विवेक सिहं कानपुर। पूर्व लोकायुक्त द्वारा अपने कार्यकाल में किए कार्यांे की जानकारी मांगना राजभवन का अधिकार है। यह बात रविवार को शहर आए उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने मीडिया के लोकायुक्त फाइल मंगाए जाने के सवाल पर दिया।

उन्होंने कहा कि पांच सालों के कार्यकाल में लोकायुक्त द्वारा क्या काम
हुआ इसकी जानकारी लेना दो कारणों से आवश्यक है। एक तो कार्यकाल समाप्त हो
चुका है और दूसरा नये लोकायुक्त आ जाएंगे। इससे स्थिति साफ हो जाएगी कि
कितने मामले पेंडिंग हैं और किस स्थिति में है। इस स्थिति के साफ होने से
आने वाले लोकायुक्त को कार्य करने में दिक्कत सामने नहीं आएंगी।

आगे बोले कि कुछ लोग कहते हैं कि इससे पहले किसी राज्यपाल द्वारा इस तरह की
जानकारी नहीं मांगी गई। ‘मैं उनको बताना चाहता हूॅं कि पहले वह संविधान व
राज्यपाल के अधिकारों के विषय में जान लें।‘ वह यहीं नहीं रूके और कहा कि
राज्य सरकार से जो भी जानकारी मांगनी चाहिए, वो अधिकार राज्यपाल को होता
है।7c7d01fd-3029-432c-b1b7-36aac3bbd30a

LEAVE A REPLY