(शैलेश कुमार पाण्डेय )

 

मानवता को तार – तार कर रिश्ते को कलंकित करनेवाली ये घटना

गोपालगंज के विजयीपुर में बाइक एवं सोने की चेन की खातिर पति ने अपनी पत्नी को बाजार में बेच दिया. उसकी निर्दयता यहीं समाप्त नहीं हुई. पति ने पत्नी को बेचने के बाद  अपने ही दोनों बच्चों को जहर देकर मार डाला. पत्नी कई बार बिकी, और बिकती ही चली जा रही है. इस पूरे मामले को लेकर पीड़िता के भाई ने पुलिस के पास अपनी बहन को वापस दिलाने की गुहार लगाते हुए आठ लोगों के विरुद्ध  प्राथमिकी दर्ज करायी है.  विजयीपुर थाना क्षेत्र के पगरा टोला सहडिगरी गांव निवासी हनुमान गुप्ता ने अपनी बहन बेबी की शादी थाना क्षेत्र के फरूसहां गांव निवासी श्रीकांत साह के पुत्र मुरारी गुप्ता के साथ मई 2007 में धूमधाम से की थी़  शादी के बाद से ही मुरारी बाइक व सोने की चेन की मांग को लेकर पत्नी को प्रताड़ित किया करता था़   प्रताड़ना की सूचना बेबी बराबर अपने मायकेवालों को दिया करती थी़  कई बार पंचायत के बाद भी प्रताड़ना का दौर नहीं थमा. इधर, मुरारी गुप्ता ने देवरिया के चूड़ी व्यवसायी राजू गुप्ता के हाथों अपनी ही पत्नी बेबी का सौदा तय कर दो लाख में उसके हाथों बेच दिया.  पत्नी को बेचने के बाद मुरारी ने अपने दोनों पुत्रों को भी जहर देकर मार डाला. वहीं दूसरी तरफ बेबी को राजू गुप्ता ने कुछ माह बाद यूपी के औरैया जिले के बेला थाना क्षेत्र के डूमर पुर गांव निवासी श्याम जी के हाथों बेच दिया. इस पूरे मामले का खुलासा तब हुआ, जब बेबी का भाई हनुमान गुप्ता बाहर से अपने घर वापस आया, तो पूरे मामले की जानकारी उसे मिली. पीड़िता के भाई ने जब राजू गुप्ता से संपर्क किया, तो उसने बताया कि मुझसे मुरारी ने दो लाख रुपये लेकर एवं विवाह की बात को छिपा कर मेरे हाथों बेच दिया था.  पीड़िता के भाई ने इस मामले में अपने बहनोई मुरारी गुप्ता, ससुर श्रीकांत गुप्ता सहित आठ लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी है़

 

LEAVE A REPLY