इस विद्यालय में शौचालय होने के वावजूद खुले में शौच के लिए मजबूर है छात्र- छात्राए

गोपालगंज /  हथुआ : जिले के हथुआ प्रखंड के कई प्राथमिक और मध्य विद्यालयों में लगभग एक महीने से मिड डे मिल योजना के तहत बच्चो के दोपहर का भोजन बंद है इसे विभागीय लापरवाही कहे या मैनेजीग , इस बारे में जब उत्क्रमित मध्य विधालय  अटवा दुर्ग के बच्चो ने हमारे सुनामी मिडिया ग्रुप के सवादाता को जानकारी दी तो उसके बाद हमारे सवादता ने मौके पर पहुचकर सारी बातों कि जानकारी ली जिसमे कई आश्चर्जनक तथ्य सामने आए है जिसमे विधालय में पिछले एक महीने से भोजन नही बनने कि बात सामने आई,  वही भारत के माननीय प्रधानमंत्री जी जहा निर्मल भारत और स्वच्छ भारत कि बात करते है वही यहा पढ़ने वाले छात्र – छात्राओं को  विधालय में शौचालय होने के वावजूद भी खुले में शौच करना पड़ता है  , विद्यालय में स्थित शौचालय में  बराबर तला ही लगा रहता है , और छात्रों को खुले में शौच करने के  लिए मजबूर होना पड़ता है, वही इस विधालय में शुद्ध पेयजल कि कमी है . इस बारे में जब बच्चो के उपस्थिति पंजी और मध्याहन भोजन पंजी की माग की गयी तो पंजी दिखाने से प्रधानाध्यापक इनकार कर गए , वही विधालय शिक्षा समिति के अध्यक्ष सह वार्ड सदस्य  से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि हेडमास्टर कि कमी के कारण स्कूल कि सारी व्यवस्था चरमरा गयी है , वही शिक्षा समिति के सचिव सिता देवी  से जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इस बारे में हमे कोइ जानकारी नही है , अगर ये सारे आरोप सही है तो इसमे सलिप्त दोषियों के खिलाफ जाच कर उचित करवाई कि जानी चाहिए .

क्या कहते है विद्यालय के छात्र और छात्राए

विद्यालय में पिछले एक महीने से मिड डे मिल योजना के तहत भोजन नही बन रहा है , साथ ही हम सभी छात्र और छात्रों  को शौच करने के लिए खुले में नहर के तरफ जाना पड़ता है , विधालय में शिक्षकों के आने और जाने का कोइ समय निश्चित  नही रहता है , जिसके कारण यह विधालय कुव्यवस्था का शिकार हो गया है , अभी तक इस वर्ष के पोशाक और छात्रवृति के राशि का वितरण नही किया गया है

 

 

क्या कहते विधालय के प्रधानाध्यापक

विधालय में पिछले एक महीने से मध्याहन भोजन चावल की कमी कारण नही बन रहा है , अभी एक दिन पहले चावल का उठाव किया गया है , जिसके बाद विधालय में भोजन बनेगा .

परमेश्वर माली, विधालय के प्रधानाध्यापक

 

क्या कहते है विधालय शिक्षा समिति के अध्यक्ष

विद्यालय के प्रबंध समिति कि मिटिग में हमे कभी बुलया नही जाता है , साथ ही मेरा फर्जी हस्ताक्षर विधालय के प्रधानाध्यापक द्वारा सभा पंजी पर किया जाता है जिसकी जाच होनी चाहिए और संलिप्त दोषी के खिलाफ उचित करवाई कि जानी चाहिए , विधालय में बेहतर सुधार करने के लिए जब मै जाता हू तो हमे अपमानित कर हटा दिया जाता है .

हरिशंकर मिश्रा , वार्ड सदस्य सह अध्यक्ष विधालय शिक्षा समिति , अटवा दुर्ग

क्या कहते है प्रखंड मध्याहन योजना पधाधिकारी

पहले तो उन्होंने टाल मटोल कर जबाब दिया कि पैसा और चावल दोनों दिया गया है , खाना तो बनना चाहिए लेकिन जब प्रधानाध्यापक के द्वरा बताई गयी बातों को बताया गया तो उन्होंने कहा कि गोदाम में चावल नही होने के कारण मिड डे मिल योजना प्रखंड में बाधित हुई है , लेकिन स्पष्ट जानकारी देने से कतराते रहे .

मनोज कुमार सिंह, मध्याहन भोजन योजना पधाधिकारी हथुआ प्रखंड

20160121_102545fe290ec4-ffef-431f-ae4b-04231f1d67e320160121_102456

LEAVE A REPLY