पाकिस्तान में आतंकियों ने एक बार फिर छात्रों को निशाना बनाते हुए एक बड़ा आतंकी हमला किया है. उत्तर पश्चिमी पाकिस्तान के खैबर पख़्तूनख़्वाह प्रांत में स्थित बाचा खान यूनिवर्सिटी पर हुए इस हमले में 21 लोग मारे गए हैं जबकि 50 से अधिक घायल हुए हैं. पाकिस्तानी सेना ने करीब तीन घंटे तक चली मुठभेड़ के बाद चार आतंकियों को मार गिराया है. इस हमले की जिम्मेदारी 2014 में पेशावर के आर्मी स्कूल पर हमला करने वाले आतंकी गुट तहरीके-तालिबान ने ली है. सेना के मुताबिक उसे पहले से इस हमले की आशंका थी और इसे देखते हुए यूनिवर्सिटी के आस-पास अलर्ट जारी कर दिया गया था. फिर भी आतंकी कोहरे का फायदा उठाकर यूनिवर्सिटी में घुस गए. बताया जाता है कि यह हमला उस वक्त हुआ जब यूनिवर्सिटी में उदार-गांधीवादी नेता बाचा खान की पुण्यतिथि मनाई जा रही थी. इस कार्यक्रम में मौजूद करीब 3000 लोगों पर आतंकियों ने अंधाधुध गोलियां बरसानी शुरू कर दीं. हालांकि, पहले से जारी अलर्ट की वजह से सुरक्षा कर्मी जल्द ही मौके पर पहुंच गए जिससे कई लोगों की जान बचायी जा सकी.

उधर, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने घटना पर दुख जताया है. उनका कहना था, ‘इन लोगों की कुर्बानी बेकार नहीं जायेगी. हम जल्द इसका बदला लेंगे.’ पाकिस्तान में अफगानिस्तान की सीमा से लगे खैबर पख़्तूनख़्वाह प्रांत का यह इलाका लंबे समय तक तालिबान और पाकिस्तान के आतंकियों का गढ़ रहा है. इससे पहले भी तालिबान के आतंकियों ने दिसंबर 2014 में इसी प्रांत में सेना के एक स्कूल पर हमला कर 150 से ज्यादा लोगों को मार दिया था, जिनमें ज्यादातर छात्र थे.हमला1-800x400

LEAVE A REPLY