(शैलेश कुमार पाण्डेय )

प्रशासन ने की अलाव की व्यवस्था

आठवीं कक्षा तक के सरकारी व निजी विद्यालयों में पठन-पाठन 23 तक स्थगित

 

छपरा  : हल्की बारिश के बाद लगातार दो दिनों से बढ़ी ठंड ने लोगों को घर में दुबकने के लिए विवश कर दिया है. ठंड से हर तबका परेशान हो गया है. लोगों को राहत पहुंचाने के मद्देनजर जिला प्रशासन ने एक ओर जहां शहर से लेकर प्रखंड मुख्यालय तक के बाजारों पर अलाव जलाने की व्यवस्था की है, वहीं ठंड से बचने के लिए डीएम दीपक आनंद के निर्देश पर सरकारी एवं निजी विद्यालयों को आठवीं कक्षा तक बंद करने का भी निर्देश दिया गया है, जिससे बच्चों को भीषण ठंड में परेशानी का सामना नहीं करना पड़े. पारा न्यूनतम 10 डिग्री और अधिकतम 18 डिग्री रहा : बुधवार को पूरे दिन ठंड का असर रहा. सूर्य की रोशनी नहीं निकलने व आकाश में बादल व कोहरे के कारण बारिश नहीं होने के बावजूद ठंड का असर दिखा. विभिन्न सरकारी कार्यालयों, बस स्टैंड, व्यावसायिक मंडल, रेलवे स्टेशन परिसर व चौक चौराहों पर ठंड के बीच अपने दैनिक कार्यों के निष्पादन के लिए आम लोग मजबूर दिखे. ग्रामीण क्षेत्रों से भी आनेवाले लोगों की संख्या कम रही. वहीं, इस भीषण ठंड व मंगलवार की शाम हुई बूंदाबांदी के कारण खास कर गरीब व बेघर लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा. हालांकि, प्रशासन के द्वारा नगर पर्षद परिसर में नाइट शेल्टर भी चालू करने का निर्देश नगर पर्षद के कार्यपालक पदाधिकारी को दिया गया. वहीं आम गरीबों को भी वहां पहुंच कर सरकार से मिलनेवाली नि:शुल्क सुविधा का लाभ लेने की अपील की गयी है. 98 जगहों पर अलाव जलाने की सूचना, डीएम ने मांगी व्हाट्सएप पर तसवीर : जिले में भीषण ठंड के मद्देजनर डीएम दीपक आनंद ने आपदा प्रबंधन के प्रभारी पदाधिकारी व वरीय उपसमाहर्ता शिवकुमार पड़ित के साथ बैठक की. बैठक में ठंड के मद्देनजर सभी नगर निकायों के कार्यपालक पदाधिकारी व प्रखंडों के सीओ को अलाव जलाने के साथ-साथ जलती हुई अलाव की तसवीर भी व्हाट्सएप के माध्यम से भेजने का निर्देश दिया. डीएम ने सभी अंचलाधिकारी व नगर पर्षद के कार्यपालक पदाधिकारी को निर्देशित किया कि बेघरों को राहत दिलाने की दिशा में किसी भी प्रकार की कोताही बरदाश्त नहीं की जायेगी. डीएम ने बताया कि पूर्व में ही सभी कार्यपालक पदाधिकारी व सीओ को अलाव जलाने के लिए राशि भेजी जा चुकी है. उधर, मंडल कारा, छपरा में भी भीषण ठंड के मद्देनजर महिला वार्ड, जेल अस्पताल के अलावा छह अन्य स्थानों पर काराधीक्षक सत्येंद्र कुमार व कारापाल सुदर्शन सिंह के द्वारा अलाव की व्यवस्था करायी गयी है, जिससे पुरुष-महिला बंदियों को ठंड से राहत मिल सके.

LEAVE A REPLY