बेंगलुरू: न्यूज एजेंसी एनएनआई के मुताबिक, बेंगलुरु में फ्रेंच कॉन्सूलेट को धमकी भरा खत मिला है। 26 जनवरी के कार्यक्रम के लिए फ्रांस के राष्ट्रपति को भारत आना है। खत में उन्हें भारत न आने की धमकी दी गई है।

लेटर कथित तौर पर चेन्नई से पोस्ट किया गया है।

प्रेजिडेंट ओलांद भारत में 24 जनवरी को अपनी 3 दिवसीय यात्रा पर आ रहे हैं। वह चंडीगढ़ में उतरेंगे जहां उन्हें पीएम मोदी रिसीव करेंगे। यहां बता दें कि ओलांद दिल्ली में 26 जनवरी परेड समारोह के चीफ गेस्ट होंगे।

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में सर्वाधिक संभावित सुरक्षा कवर होगा जहां फ्रांस के राष्ट्रपति मुख्य अतिथि होंगे।’ सन 2014 में गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा में 50 कंपनी (हर कंपनी में 100 कर्मी) अर्धसैनिक बल तैनात किए गए थे। 2015 में यह संख्या बढ़ाकर 95 कंपनी कर दी गई जब अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा मुख्य अतिथि बनकर आए थे। अधिकारी ने कहा कि इस वर्ष सौ कंपनियों को तैनात करने का निर्णय किया गया है। गणतंत्र दिवस समारोहों से पहले दिल्ली में व्यापक सुरक्षा के लिए अर्धसैनिक बल के दस हजार जवानों को तैनात किया गया है।Modi-hollande_twitpic_650_1

 

LEAVE A REPLY