गुड़गांव। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद की एक दिवसीय यात्रा से पहले शुक्रवार को अमरीकी केंद्रीय खुफिया एजेंसी (सीआईए) ने गुड़गांव, फरीदाबाद और अन्य आसपास के जिलों से अपराध की स्थिति रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए हरियाणा पुलिस से कहा है, जिससे उचित सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित किया जा सके। दोनों नेताओं का 25 जनवरी को गुड़गांव-फरीदाबाद एक्सप्रेसवे पर स्थित सौर ऊर्जा राष्ट्रीय संस्थान में कार्यक्रम है जहां, अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन की अंतरिम सचिवालय का शिलान्यास किया जाएगा।

फ्रांस, अमरीका के एक मित्र राष्ट्र के रूप में है, इसलिए सीआईए ने ओलांद की यात्रा के लिए सुरक्षा व्यवस्था में खुद को शामिल किया है। एजेंसी विशेष रूप से उन इलाकों की रिपोर्ट मांगी है जहां अवैध खनन और अन्य आपराधिक गतिविधियां ज्यादा होती है जिसमें अरावली पर्वत श्रृंखला के आसपास के क्षेत्र है। इसके लिए गुड़गांव और फरीदाबाद जिला प्रशासन को कहा है कि वो एक्शन रिपोर्ट दें।

हवा सिंह, एसीपी (पीआरओ) गुड़गांव पुलिस ने कहा कि खुफिया एजेंसी एंव सुरक्षा एजेंसियों ने मेवात जिले से पिछले तीन साल में चार या पांच आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। इसी मेवात जिले पर सीआईए ने विशेष ध्यान केंद्रित किया है।

अलकायदा आतंकवादी की गिरफ्तारी ने बढा़ई चिंता

एक संदिग्ध अल-कायदा के सदस्य को मेवात जिले से दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पिछले सप्ताह ही गिरफ्तार किया था। सीआईए ने गुड़गांव पुलिस से कहा है कि अपने संबंधित क्षेत्रों के सभी आपराधिक गतिविधियों पर डेटा प्रस्तुत करे जिससे हम सुरक्षा को चाक चौबंद रख सके।

SWAT की टीम लगी है सुरक्षा में

गुड़गांव और फरीदाबाद जिला प्रशासन ने जहां स्वात(SWAT) की टीम है उसके दो किलोमीटर की परिधि में धारा 144 लगा दी है। जनवरी 24 और 26 के बीच प्रमुख मॉल, शॉपिंग सेंटर, रणनीतिक स्थानों और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर भी धारा 144 लगाया जाएगा।

phpThumb_generated_thumbnail

LEAVE A REPLY