बिलासपुर ।  ग्राम पंचायत निरतु के सरपंच सचिव व् अधिकारियों के मिली भगत से जिले की जीवन दायनि नदी अरपा नदी में रेत माफिया धड़ल्ले से अवैध उत्खनन के कारोबार को संचालित कर रहे हैं.खनिज विभाग के अधिकारी से रेत माफियाओं को मिल रही संरक्षण के कारण अरपा नदी से रेत का अवैध उत्खनन लगातार जारी है और नियमों को ताक में रख कर घड़ल्ले के साथ जेसीबी मशीन का उपयोग कर रेत उत्खनन और परिवहन कर रहे हैं.नदी किनारे बेतरतीब खुदाई के कारण नदी के कटाव रोकने के लिए बनी दीवार भी छतिग्रस्त होने लगी है, लेकिन खनिज विभाग के अधिकारियों की नजर में अवैध कारोबारी पर नजर ही नहीं पड़ रही है.अब जिला प्रशासन ने रेत के अवैध उत्खनन को रोकने के लिए नई पहल की तैयारी शुरू की है, जिसमें भारत सरकार के पर्यावरण विभाग द्वारा जिला स्तर में रेत घाट स्वीकृति के अनुमति दे दी गई है
जिसके चलते ग्रामीणों को काफी समस्या का सामना करना पड़ता  इन बेलगाम बाहनो से कई बार गाव वालो को जान का भी कीमत चुकाना पड़ता है और जब इस बारे में (अखिल भारतीय विश्व हिन्दू परिषद्)के राष्टीय मध्य भारत अध्यक्ष “ललित पटेल” जी से बात की गयी तो उन्होंने बताया की बिलासपुर जिले की जीवन दायनी एक मात्र नदी अरपा है जिससे लाखो ग्रामीणों का रोजगार जुड़ा हुआ है लेकिन जेसीबी मशीन से खुदाई होगी तो यह रोजगार बहुत ही जल्दखत्म हो जायेगा इसको तुरंत बंद करे ।72ab17b4-e584-45e7-92b0-ed7f8e763e50 47546493-8dd6-41bd-9427-3d3af6795d41

LEAVE A REPLY