बनारस : बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में आंखों का इलाज कराने आए कुछ मरीजों की आंखों की रोशनी जाने का मामला सामने आया है। पांच मरीजों ने पुलिस में मामला दर्ज कराकर दोषी डॉक्टर के ख़िलाफ़ कार्रवाई की मांग की है।

मरीजों का कहना है कि 28 जनवरी को आंखों का इलाज करने वाले डॉक्टर ओपीएस मौर्या ने उन्हें एक इंजेक्शन दिया, जिससे सुबह होते-होते उन्हें दिखना बंद हो गया। जब वे अपनी समस्या लेकर दोबारा डॉक्टर के पास गए तो तरह-तरह के आश्वासन देकर टालमटोल किया जाने लगा।

बाद में पीड़ितों ने बीएचयू गेट के पास लंका थाने में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस अब इस मामले की जांच कर रही है। वहीं बीएचयू प्रशासन इस मामले पर फिलहाल चुप्पी साधे हुए है।benaras-hindu-university_650x400_61431184147

LEAVE A REPLY