रियो दि जिनेरियो: ब्राजील की महिला पहलवान एलाइन सिल्वा को दो बार डेंगू हो चुका है और रियो ओलंपिक में पदक की दावेदार यह खिलाड़ी जीका वायरस को लेकर कोई कोताही नहीं बरतना चाहती।

सिर्फ सिल्वा ही नहीं बल्कि लगभग सभी खिलाड़ी इसे लेकर चिंतित हैं। गैर ब्राजीली खिलाड़ी तो सामान के साथ ढेर सारे मच्छर मारक (मॉस्किटो रेपेलेंट) लाने, होटल के कमरों में रहने और समुद्र तट से किनारा करने का मन बना चुके हैं।

ब्राजील से ही मच्छर जनित जीका वायरस तेजी से फैला है। इसका असर रियो ओलंपिक पर भी पड़ सकता है और कई खिलाड़ी तथा खेल प्रेमी खेलों के इस महाकुंभ से कन्नी काट सकते हैं।

सिल्वा ने कहा, ‘मैं इसे लेकर बहुत चिंतित हूं। रेपेलेंट के बिना मैं अभ्यास नहीं कर सकती। मुझे दो बार डेंगू हो चुका है और मैं इससे वाकिफ हूं।’ तीन बार की विश्व चैम्पियन और ओलंपिक में गोल्ड मेडल की दावेदार अमेरिकी महिला पहलवान एडेलिन ग्रे ने कहा, ‘यदि मैं गर्भवती होती तो मेरे लिए यह बहुत चिंता की बात होती और फिर मैं रियो ओलंपिक में भाग नहीं लेती।’

उसने कहा कि उनके कोचों ने ब्राजील में तैराकी से भी मना किया है। उसने कहा, ‘हम बाहर ज्यादा समय नहीं बिता पा रहे। लंबी बाजू के कपड़े पहन रहे हैं और कमरों में छिड़काव कर रहे हैं।’

रियो खेलों के प्रवक्ता मारियो आंद्रादा ने कहा कि पांच अगस्त को खेलों के आगाज तक रोज मुआयना होगा। उस समय ब्राजील में सर्दी का मौसम होगा और ठंड की वजह से मच्छर ज्यादा नहीं पनपेंगे।zika-virus_650x400_51454010473

 

LEAVE A REPLY