16 दिसंबर की घटना के बाद देश भर में महिलाओं के खिलाफ हो रही हिंसा के बारे में जागृति आई थी. देश में महिला केंद्रित परियोजनाओं के लिए बनाये गये निर्भया कोष के तहत पिछले तीन सालों में केवल 600 करोड़ रूपये खर्च किये गए जबकि इस कोष के तहत इस दौरान 3000 करोड़ रूपये खर्च किये जाने थे.

महिलाओं की सुरक्षा और कल्याण कार्यक्रमों पर खर्च करने के लिए 2013 में यह कोष बनाया गया था.महिला और बाल विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि मंत्रालय इस कोष के तहत दो परियोजनाओं पर काम कर रहा है जिसके तहत क्रमश: 18.58 करोड़ रूपये और 69.49 करोड़ रूपये खर्च किये जाने की योजना है.

lfund-story_647_06161_145437597577_650x425_020216065114

LEAVE A REPLY