-सभी विधान सभाओं में हुई सम्पन बैठक, छह फरवरी को हो सकती है घोषणा

विशेष खबर
कानपुर। सोशल इंजीनियरिंग के चलते बसपा की यह कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा वर्गों को विधान सभा का टिकट दिया जाय। लेकिन कानपुर नगर में बसपा का यह फार्मूला सिमटता दिख रहा है। सूत्रों की माने तो पार्टी विरोधियों को पटकननी देने के लिए इस बार कानपुर नगर में सर्वाधिक सवर्ण प्रत्याशियों पर ही दांव लगाएगी। जिसके लिए पार्टी अंदरखाने सवर्ण वर्ग के मोटे आसामियों की लिस्टिंग बनाना शुरू कर दिया है।

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद से ही बसपा विधान सभा चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी थी। जिसके चलते पार्टी ने प्रत्येक विधान सभा क्षेत्रों पर उन्हीं को प्रभारी बनाया था जो विधान सभा चुनाव में पार्टी के प्रत्याशी होंगें। लगभग डेढ़ साल से प्रत्याशियों ने अपने-अपने क्षेत्रों का लगातार दौरा भी कर रहें हैं। लेकिन पार्टी सिपहसालारों ने बसपा  सुप्रिमों को अवगत कराया कि कानपुर नगर में खासतौर पर महानगर क्षेत्र में सवर्ण प्रत्याशी ही जीत दिला सकता है।

जिसके बाद से पार्टी अंदरखाने ऐसे जिताऊ व मोटे आसामी प्रत्याशियों की लिस्टिंग बनाना शुरू कर दिया है जो विरोधी प्रत्याशियों पर जीत दर्ज कर सके। जिसका संकेत बसपा सुप्रिमों मायावती के जन्म दिन पर भी दिया जा चुका है। इसी को लेकर मंगलवार से सभी विधान सभाओं में अलग-अलग समीक्षा बैठक शुरू कर दी गई है। सूत्रों के अनुसार सुरक्षित सीटों को छोड़कर पार्टी लगभग सभी सीटों पर सवर्ण प्रत्याशियों को ही उतारेगी, खासतौर उनमें ब्राह्मणों की संख्या सर्वाधिक होगी। सूत्रों के मुताबिक छह फरवरी को प्रत्याशियों की घोषणा कर दी जाएगी।dffa56dc-a229-4924-90b0-ee05ef86efeb

LEAVE A REPLY