सीएम से करेंगे शिकायत
गिरिडीह : एक तरफ उग्रवाद प्रभावित पीरटांड़ के विकास के लिये राज्य सरकार गंभीर है. पारसनाथ व मधुबन में विकास को लेकर करोड़ों की योजनाओं का संचालन किया जा रहा है. वहीं ठेकेदार व पथ निर्माण विभाग की लापरवाही के कारण पीरटांड़ प्रखंड के चिरकी में गिरिडीह-डुमरी पथ पर चार वर्षों से बन रहा पुल अभी तक पूरा नहीं हो पाया है. इससे यहां के लोगों में आक्रोश  है.

वर्ष 2012-13 में एक करोड़ 11 लाख की लागत से चिरकी नदी पर पुल बनाने का काम शुरू किया गया था. कुछ माह तक पुल का काम ठीक-ठाक चलता रहा ,लेकिन बाद में रुक-रुक कर काम होने लगा. इस मामले को लेकर पीरटांड़ के ग्रामीणों ने कई बार शिकायत की. शिकायत के बाद पुल का काम शुरू किया गया, लेकिन कुछ दिनों बाद काम बंद कर दिया गया. छह माह से  काम बंद है.  स्थानीय निवासी सह भाजपा नेता श्याम प्रसाद ने बताया कि जब निर्माण शुरू हुआ तो वर्ष 2013 में ही काम पूरा करने की बात कही गयी थी,लेकिन ऐसा हो नहीं पाया. मामले की शिकायत मुख्यमंत्री से की जायेगी. वहीं चिरकी के पूर्व मुखिया चांदोलाल हेंब्रम ने कहा कि संवेदक व अधिकारियों की लापरवाही के कारण इस पुल का निर्माण नहीं हो सका है.  कहा कि पुल नहीं बनने के कारण पुराने पुल में आये दिन दुर्घटना होती है.

इस मामले को प्रशासन को गंभीरता से लेना चाहिए. इधर इस संदर्भ में पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक पदाधिकारी से संपर्क साधने का प्रयास किया गया लेकिन संपर्क नहीं हो पाया. पुल का काम देख रहे कनीय अभियंता ने फोन नहीं उठाया. वहीं मामले पर जब विभाग के कर्मियों से संपर्क साधा गया तो बताया गया कि संवेदक पर कार्य को पूरा करने का दबाव कई बार बनाया गया लेकिन संवेदक इस ओर गंभीर नहीं है. इस मामले को लेकर विभाग के आलाधिकारियों के पास शिकायत की गयी है ा                            मै       अमिताभ शरमा गिरिडीह से

LEAVE A REPLY