‘लेडीज वर्सिज रिकी बहल’, ‘लुटेरा’, ‘गोलियों की रासलीला रामलीला’ और ‘बाजीराव मस्तानी’ जैसी फिल्मों से बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाने के साथ ही आलोचकों की प्रशंसा पाने वाले बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह का कहना है कि वह खुद को नहीं अपने काम को गंभीरता से लेते हैं।

फिल्म ‘बैंड बाजा बारात’ में दिल्ली के एक युवक के किरदार से बॉलीवुड में अभिनय की पारी की शुरुआत करने वाले रणवीर का कहना है कि बॉलीवुड में अपनी जगह बनाना आसान नहीं था।

करियर की शुरुआत के दौरान कास्टिंग काउच का शिकार होने की बात स्वीकार कर चुके रणवीर राजधानी में मंगलवार को ‘एनडीटीवी इंडियन ऑफ द ईयर अवॉर्ड 2015’ का पुरस्कार ग्रहण करने आए थे।

अपने अब तक के फिल्मी सफल के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘इस दौरान कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा और कई कड़वे घूंट पीने पड़े। आगे बढ़ने के लिए आपको अपने सम्मान के साथ समझौता करना पड़ता है और कुछ हद तक गिड़गिड़ाना भी पड़ता है। हालांकि अब हालात बदल रहे हैं और चीजें व्यवस्थित हो रही हैं।’’

अपनी सफलता के मंत्र के बारे में रणवीर ने कहा, ‘‘मैं खुद को नहीं अपने काम को गंभीरता से लेता हूं।’’ranveer-singh1-04-02-2016-1454562534_storyimage

LEAVE A REPLY