जर्मनी के रिफ्यूजी कैंप में फंसी गुरप्रीत गुरुवार सुबह भारत लौट आई. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जर्मनी में परेशानियों का सामना कर रही भारतीय महिला गुरप्रीत और उसकी आठ साल की बेटी को मदद का भरोसा दिलाया था. उसके बाद वहां के भारतीय मिशन ने गुरप्रीत को देश वापस लाने का मिशन शुरू किया. शरणार्थी शि‍विर से निकालकर फ्रैंकफर्ट स्थि‍त भारतीय दूतावास लाया गया और फिर दिल्ली लाया गया. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को ट्विटर पर इस बारे में जानकारी देते हुए कहा था कि दोनों मां-बेटी गुरुवार सुबह हिंदुस्तान आ जाएंगे.

विदेश मंत्री ने ट्विटर पर लिखा, ‘हम गुरप्रीत और उनकी आठ साल की बेटी को रिफ्यूजी कैंप से बाहर अपने दूतावास ले आए हैं.’ सुषमा स्वराज ने इसके साथ ही एक भारतीय दूतावास में दोनों मां-बेटी की तस्वीर भी साझा की.एक अन्य ट्वीट में सुषमा ने लिखा , ‘गुरप्रीत और उनकी बेटी फ्रैंकफर्ट से एयर इंडिया की फ्लाइट संख्या AI120 से कल सुबह 9:35 बजे दिल्ली पहुंचेंगे.’

gurpreet_650_020316085402

LEAVE A REPLY