विशाखापट्टनम/नईदिल्ली. आंध्र के समंदर में गुरुवार से 5 दिन का इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू 2016 शुरू हो रहा है। 54 देशों की नेवी इसमें हिस्सा ले रही है। भारत से 100 से ज्यादा जहाज और 60 फाइटर प्लेन इसमें शामिल हो रहे हैं। भारत से बनते-बिगड़ते रिश्तों के बीच चीन भी अपनी नेवी के साथ इस प्रोग्राम में पहुंच रहा है। हालांकि, पाकिस्तान इसमें हिस्सा नहीं ले रहा है।
क्यों खास है #IFR2016…
– 15 साल बाद भारत में यह इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू हो रहा है। ईस्टर्न नेवल कमांड इसे ऑर्गनाइज कर रही है।
– इस बार इसमें हिस्सा लेने वाले देशों की संख्या 29 से बढ़कर 54 हो गई है। इन देशों से 75 से ज्यादा वॉरशिप इसमें नजर आएंगे।
– 24 विदेशी नेवी चीफ और 90 फॉरेन डेलिगेट्स इसमें हिस्सा ले रहे हैं।
– रिटायर होने जा रहे इंडियन नेवी के आईएनएस विराट का यहां आखिरी सफर होगा।
– रिव्यू के दौरान सभी देशों की नेवी के अफसर बीच समुद्र में मैराथन मीटिंग करेंगे।
– शनिवार को प्रणब मुखर्जी और नरेंद्र मोदी प्रोग्राम में हिस्सा लेंगे।
सिटी ऑफ डेस्टिनी ‘विशाखापट्टनम’
– इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू 2016 का थीम रखा गया है यूनाइटेड थ्रू ओशन्स। इसकी मेजबानी करने के लिए भारत ने चुना है विशाखापट्टनम को, जिसे सिटी ऑफ डेस्टिनी भी कहा जाता है।
– फ्लीट में आईएनएस विराट और आईएनएस विक्रांत, दोनों शामिल हो रहे हैं, लेकिन आईएनएस विराट के लिए आखिरी मौका होगा।
– फिर इस वॉरशिप को पहाड़ी इलाका कैलाशगिरी (टेनंटी पार्क) के एक म्यूजियम में रखा जाएगा।
10 बार फ्लीट रिव्यू कर चुका है इंडिया
– 1953 में पहली बार भारत ने फ्लीट रिव्यू किया था।
– आखिरी बार जनवरी 2001 में भारत ने मुंबई में पहला इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू किया था। तब 29 देश हिस्सा बने थे।
– आजादी के बाद से लेकर अब तक इंडियन नेवी अपने सुप्रीम कमांडर के लिए 10 बार फ्लीट रिव्यू कर चुकी है।
क्या है रिव्यू का शेड्यूल
– 4 फरवरी को आंध्र के सीएम चंद्रबाबू नायडू इनॉगरेशन करेंगे।
– 5 फरवरी को नेवी चीफ आरके धवन मीटिंग करेंगे।
– 6 फरवरी को प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी, पीएम मोदी, डिफेंस मिनिस्टर मनोहर पर्रिकर और होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह मेहमान होंगे।
– 7 फरवरी को इंटरनेशनल मैरीटाइम कॉन्फ्रेंस होगी।
– 8 फरवरी को ज्वाइंट इंटरनेशनल बैंड की सेरेमनी के साथ प्रोग्राम खत्म होगा।ifr1_jpg2_jpg3_jpg6_14545

LEAVE A REPLY