जामिया मिल्लिया इस्लामिया के एक प्रोफेसर को अनुचित व्यवहार के आधार पर निलंबित कर दिया है. प्रोफेसर ने जामिया के कामकाज में अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को पत्र लिखा था.

प्रोफेसर ओबैद सिद्दीकी ने कहा कि उन्हें मंगलवार रात जो आदेश प्राप्त हुआ है उसमें कहा गया है कि विश्वविद्यालय ने उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही शुरू की है और उन्हें तीन महीने के लिए निलंबित कर दिया गया है. जामिया के जनसंचार केंद्र के पूर्व निदेशक सिद्दीकी ने कहा कि मुझ पर इस अवधि के दौरान सक्षम प्राधिकारी से पूर्व अनुमति लिए बिना दिल्ली से बाहर यात्रा करने पर भी रोक लगाई गई है.

जामिया के प्रवक्ता मुकेश रंजन ने कहा कि प्रोफेसर को जामिया कानून के प्रावधानों के तहत अनुचित व्यवहार के आरोपों के आधार पर और विश्वविद्यालय से निलंबित किया गया है.

jamia_145455423340_650x425_020416082116 (1)

LEAVE A REPLY