सिखों के एक संगठन द्वारा फ्रांस में अपने अधिकारों के लिए किए गए प्रदर्शन पर प्रतिक्रिया देते हुए फ्रांस के दूतावास ने कहा कि सार्वजनिक रूप से पगड़ी पहनने पर फ्रांस में कोई रोक नहीं है.

दूतावास ने बयान में कहा, ‘कुछ कट्टरपंथी संगठनों के आरोपों के विपरीत सरकारी स्कूलों के परिसरों के बाहर सार्वजनिक स्थानों पर सिखों को पगड़ी पहनने की पूरी आजादी है. सार्वजनिक स्थानों पर केवल बुर्का पर रोक है और वह भी जाहिर तौर पर सुरक्षा कारणों से.’ दूतावास ने कहा, ‘फ्रांस में ना तो सड़कों पर पगड़ी पहनने वाले सिखों को किसी तरह की बदसलूकी झेलनी पड़ी है और ना ही सिख धार्मिक स्थलों पर कभी ऐसा हुआ है.’

बयान के अनुसार, ‘फ्रांस धर्म की आजादी प्रदान करता है और किसी को इस आधार पर भेदभाव का अधिकार नहीं देता. पगड़ियां पहनने पर कोई पाबंदी नहीं है. इस मामले में फ्रांस का कानून बहुत स्पष्ट है. सभी धार्मिक प्रतीकों को पहनने पर यह रोक बिना किसी भेदभाव के लागू होती है और यह केवल सरकारी स्कूलों में है.’ दूतावास ने कहा, ‘सरकारी स्कूलों के प्रमुखों पर निर्भर करता है कि वह सबसे उचित कदम उठायें ताकि इसे संवेदनशील तरीके से लागू किया जा सके.’

sikh-wearing-a-turba_145446673753_650x425_020316080326

LEAVE A REPLY