– बाहर नर्सिंगहोम में कराने के लिए करीब दो से तीन लाख रुपये आता है खर्चा
विवेक सिह हेड
सुनामी एक्सप्रेस न्यूज
कानपुर। टीम इण्डिया के विस्फोटक बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग को एक मैच में क्रिकेट  खेलने के दौरान स्लाप स्वीफ शाट लगाने में कंधे की मांसपेशिया खीच गयी थी। जिनका इलाज लंदन के एक चर्चित हास्पिटल में हुआ। इसी तरह कानपुर शहर के एक युवक के कंधे का इलाज हैलट के डाक्टरों ने कम खर्च में सफल इलाज किया हैं। इस इलाज में लगभग दो से तीन लाख रुपये खर्च होता है वह भी दिल्ली व मुम्बई जैसे हास्पिटल में ही इलाज संभव है।

कर्नलगंज बजरिया इलाके में रहने वाला रौनक (18) 15 दिन पहले क्रिकेट
खेलते समय स्पोटर्स इंजरी की चपेट में आ गया। इस चोट के बाद रौनक अपना
हाथ भी नहीं उठा पा रहा था। जानकारी होने पर परिवार ने इलाज के लिए
उर्सला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डाक्टरों ने इस गंभीर चोट पर अपने
हाथ खड़े करते हुए रौनक को हैलट रेफर कर दिया। हैलट के आर्थाेपैडिक
डाक्टर चंदन कुमार और फहीम अंसारी ने एक्सरे जांच कराया। जहां पता चला कि
कंधे के की हड्डी के बीच की कोशिकाएं पूरी तरह बिखरने के कारण हड्डी आपस
टकरा रही है।

डाक्टरों ने सात दिन पहले आर्थोस्कोपी विधि के जरिए कोशिकाओं को ठीक कर दिया। इस खर्च में लगभग दस हजार रुपये खर्च हुए है। आपरेशन करने के बाद डाक्टरों ने उसकी चोट में काफी सुधार बताया है। वहीं जब डाक्टर से इस सफल इलाज के बारे में बताया तो उन्होने बताया कि इसी तरह की चोट टीम इण्डिया के विस्फोटक बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग को भी हुई थी। उनके मुताबिक इस इलाज में करीब दो से तीन लाख रुपये खर्च आता है।

Attachments area
335ab98f-ff81-4242-8a19-bde6ab6958bd

 

 

LEAVE A REPLY