कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) वित्त वर्ष 2015-16 के लिए भविष्य निधि डिपॉजिट पर 9 प्रतिशत ब्याज देने की घोषणा 16 फरवरी को कर सकता है. EPFO बीते दो वित्त वर्ष से पीएफ पर 8.75 प्रतिशत ब्याज दे रहा है.

ईपीएफओ के सर्कुलर के मुताबिक, ईपीएफओ केंद्रीय न्यासी मंडल (टीबीटी) की बैठक 16 फरवरी 2016 को चेन्नई में होनी है. इस बैठक के एजेंडे में 2015-16 के लिए ईपीएफओ के अंशधारकों को देय ब्याज की दर पर विचार करना भी शामिल है.

पहले की गई थी ये सिफारिश
इससे पहले ईपीएफओ सलाहकार निकाय, एफएआईसी ने मौजूदा वित्त वर्ष के लिए 8.95 प्रतिशत ब्याज दर की सिफारिश की थी. जबकि इससे पहले 2013-14 व 2015-16 के लिए 8.75 प्रतिशत ब्याज दिया गया है.

100 करोड़ रुपये का घाटा होगा
सितंबर में ईपीएफओ के आय अनुमानों के अनुसार पीएफ पर नौ प्रतिशत ब्याज देने से 100 करोड़ रुपये का घाटा होगा. सीबीटी के सदस्य पीजी बनासुर ने इससे पहले कहा था, ‘ईपीएफओ जब नए अनुमान लगाएगा तो हमारा मानना है कि पीएफ डिपॉजिट पर 9 प्रश्तिात ब्याज देने पर 100 करोड़ रुपये का अधिशेष आएगा. एफएआईसी अपनी सिफारिशों में अगली बैठक में बदलाव कर सकता है और 2015-16 के लिए 9 प्रतिशत की ब्याज दर सुझा सकता है

pf_145460565685_650x425_020416104012

LEAVE A REPLY