मानव संसाधन और विकास मंत्री स्मृति ईरानी की सुरक्षा को ‘y’ कैटेगरी से बढ़ाकर ‘Z’ कैटेगरी करने की तैयारी है. रोहित वेमुला की मौत के बाद स्मृति के दफ्तर के बाहर छात्रों के बढ़ते प्रदर्शन के बाद यह फैसला लिया गया है.

एक अधिकारी के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्रालय अब स्मृति की सुरक्षा में इजाफा करेगा. एक अंग्रेजी अखबार के अनुसार रोहित वेमुला की आत्महत्या के विरोध में हो रहे छात्रों के प्रदर्शन के बाद से स्मृति की सुरक्षा के लिए मौजूदा व्यवस्था को नाकाफी माना जा रहा है. कुछ बदमाश विरोध प्रदर्शन को बहाना बनाकर स्मृति को नुकसान भी पहुंचा सकते हैं. जेड सुरक्षा मिलने के बाद हर समय स्मृति की सुरक्षा के लिए 20 सिक्योरिटी गार्ड मौजूद होंगे.

कुछ मंत्रियों के पास है जेड और जेड प्लस सुरक्षा
मौजूदा समय में कुछ ही कैबिनेट और राज्य मंत्रियों के पास जेड या जेड प्लस सुरक्षा है. जिनके पास जेड प्लस सुरक्षा है उनमें गृहमंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, राज्य मंत्री किरन रिजिजू और जितेंद्र सिंह शामिल हैं. इनके साथ ही राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोबाल, RSS प्रमुख मोहन भागवत और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को भी जेड प्लस सुरक्षा मलि हुई है.

खतरे की आशंका के बाद किया जाता है तय
एक अन्य अधिकारी के मुताबिक VIP सिक्योरिटी खतरे की आशंका के बाद तय की जाती है. किसको किस श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी इसका फैसला दो कमेटी करती है. एक प्रोटेक्शन रिव्यू ग्रुप और दूसरी सेक्योरिटी कैटेगराइजेशन कमेटी. गृह सचिव इन दोनों कमेटी की अध्यक्षता करते हैं और उनके साथ इंटेलिजेंस ब्यूरो के कुछ अधिकारी होते हैं.

smriti-irani_145458956080_650x425_020416061425

l

LEAVE A REPLY