सुनामी एक्सप्रेस न्यूज

विवेक सिहं जोनल ब्यूरोचीफ

कानपुर । बजरिया थानाक्षेत्र स्थित गुरुवार को वर्चस्व को लेकर दो सपा नेता आपस में भिड़ गये। मामला इतना गंभीर हो गया कि बवाल को शांत कराने के लिए एसएसपी, दो एसपी, पांच सीओ व कई सर्किल थाने की फोर्स पहंुची। आखिरकार जब मामला नहीं थमता दिखा तो एसएसपी ने पीएसी तक बुला ली। बवाल शांत होने के बाद पुलिस ने  दोनों पक्षों के खिलाफ संगीन धाराओं पर मुकदमा दर्ज किया। हालांकि सत्ता की हनक के चलते पुलिस किसी भी पक्ष के लोगांे को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

बताते चले कि गुरुवार की शाम करीब चार बजे संतलाल का हाता निवासी मोतीलाल का दामाद श्यामजीत अपनी पत्नी विजय लक्ष्मी को ससुराल छोड़ने आया था श्यामजीत पत्नी को छोड़कर घर वापस निकला तो उसकी बाइक बृह्मनगर तिराहे के पास एक सरदार से भिड़ गयी। भिड़न्त होने के बाद सरदार बिना कुछ कहे वहां से निकल गया, लेकिन तिराहे के पास ही मौजूद एसपीओ व सपानेता रजय बाजपेयी व उनके भाई अजय ने रोक लिया और उसके साथ मारपीट शुरु कर दी।

इधर मारपीट के बाद श्याम वापस ससुराल पहंुचा और इसकी जानकारी ससुरालियों को दी। जिसके बाद पड़ोसी अनिल कुमार सोनकर के साथ कई लोग पहंुचे और रजय का विरोध करने लगे। इस बीच दोनों में कहासुनी होने लगी और देखते ही देखते
दोनों पक्षों के बीच मारपीट और्र इंट पत्थर चलने लगे।

बवाल की जानकारी होने पर एसएसपी शलभ माथुर एसी सिटी देवरजंन एसपी पश्चिम राजेश एस व पांच सीओं व कई सर्किल की थाना पुलिस पहंुची। दोनों तरफ से हो रहे पथराव को देखते हुए एसएसपी ने पीएसी बुला ली। एक घंटे के बाद पुलिस ने मामले को
शांत कराया।3d331ca0-cb15-4a30-b1bd-4ce77ace3448

LEAVE A REPLY