दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र दिव्यांश की मौत में साजिश की आशंका जताई है. साथ ही स्कूल पर लापहरवाही बरतने का आरोप लगाया है. सिसोदिया ने कहा है कि बच्चे के पिता की बात पर गौर ही नहीं किया जा रहा.

पिता ने लगाया दुराचार का आरोप
दिव्यांश के पिता ने बच्चे से दुराचार की आशंका जताई है. दिव्यांश के पिता रामहेत ने कहा कि अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई. पुलिस मुझसे सवाल क्यों नहीं पूछ रही? जाहिर है मामले को दबाया जा रहा है.

सिसोदिया ने इसलिए बताई साजिश

  • सिसोदिया ने कहा कि परिवार ने जिस तरीके से दुराचार के आरोप लगाए हैं और स्कूल उस पर ध्यान नहीं दे रहा है.
  • जिस तरह बच्चा सेप्टिक टैंक के पास पहुंचा और उसे पानी से निकालने के लिए स्कूल का कोई स्टाफ तैयार नहीं हुआ.
  • अभिभावकों की बात को नजरअंदाज किया जा रहा है कि बच्चे के ऐनल पॉइंट्स पे कॉटन लगी हुई थी.
  • एक होनहार बच्चे को किसी मेडिकल टेस्ट के बिना ही स्कूल प्रशासन का हाइपर एक्टिव और दिमागी रूप से ठीक न बताना.

पिता ने उठाए ये सवाल
दिव्यांश के पिता रामहेत ने भी स्कूल पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि मेरे पास उस पूरे इलाके का नक्शा है. वहां बहुत से सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. उस दिन वो कैमरे कहां थे? टंकी पर 20-25 किलो का पत्थर रखा था. बच्चे ने उसे कैसे उठाया होगा? टंकी में गिरने से पहले उसने जूते क्यों

सिसोदिया बोले- कार्रवाई करेंगे
सिसोदिया ने कहा, ‘रिपोर्ट चिंता में डालती है कि प्राइवेट स्कूल इतना लापरवाह कैसे हो सकता है. मैनेजमेंट और स्टाफ बच्चों की सुरक्षा के साथ इतना खिलवाड़ कर रहा है तो मन में डर पैदा होता है. इसकी गंभीरता से जांच होनी चाहिए.’ उन्होंने भरोसा दिलाया कि स्कूल पर कानूनन कार्रवाई की जाएगी.

30 जनवरी को हुई थी मौत
दिल्ली के वसंत कुंज स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल में पहली क्लास में पढ़ने वाला छह साल का दिव्यांश 30 जनवरी को स्कूल के सेप्टिक टैंक में गिर गया था. पुलिस को पहली जानकारी स्कूल प्रशासन के बजाय अस्पताल से मिली थी. अस्पताल पहुंचने तक वह दम तोड़ चुका था.

अब तक क्या

  • डॉक्टरों ने अपनी रिपोर्ट में दिव्यांश को पूरी तरह फिट बताया, उसे कोई बीमारी नहीं थी. जबकि स्कूल ने हाइपर एक्टिव बताया था.
  • पुलिस ने शुरुआती जांच में स्कूल की लापरवाही बताई. इसके बाद ही स्कूल ने कहा कि वह आए दिन क्लास से गायब हो जाता था.
  • सेंट्रल फोरेंसिक साइंस लेबोरेट्री (CFSL) और पुलिस टीम ने स्कूल जाकर क्राइम सीन रीक्रिएट किया. अब तक 40 लोगों से पूछताछ.
  • स्कूल प्रशासन ने दिव्यांश की क्लास डायरी हवाला देकर अपना बचाव किया, जिसमें उसकी अनुशासनहीनता को लेकर कुछ नोट दर्ज हैं.
  • स्कूल प्रिंसिपल संध्या, क्लास टीचर मीनाक्षी, सुपरवाइजर, माली और रूम की देखरेख करने वाले गिरफ्तार. अभी जमानत पर रिहा.

ldivyansh_650_020616123642

LEAVE A REPLY