दिल्ली में एमसीडी सफाई कर्मचारियों की हड़ताल लगातार 11 वें दिन भी जारी है. आंदोलनकारियों ने शनिवार सुबह श्यामलाल कॉलेज के पास सड़क जाम कर दिया. इसके साथ ही पूरे दिल्ली में अलग-अलग जगहों पर ये लोग कई तरीकों से अपना विरोध जता रहे हैं.

अभी और बढ़ सकती है हड़ताल
प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का पुतला फूंका . वहीं परिवहन मंत्री गोपाल राय के दफ्तर के बाहर जनकर नारेबाजी भी की. इन लोगों ने रेल भवन को भी निशाना बनाया. खजूरी खास चौक और शास्त्री पार्क में एमसीडीकर्मियों ने जबर्दस्त प्रदर्शन किया. इस बीच बीच सड़क पर सैलरी की मांग के साथ हवन पूजन भी किया. दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग से बैठक बेनतीजा निकलने के बाद बाकी एमसीडी कर्मियों ने हड़ताल जारी रखने का मन बनाया हुआ है.

इंजीनियर्स फोरम ने तोड़ी हड़ताल
एमसीडी से जुड़े इंजीनियर्स फोरम ने शनिवार को ही हड़ताल वापस लेने का ऐलान कर दिया है. प्रदर्शन कर रहे डॉक्टरों के एक धड़े ने अपना हड़ताल पहले ही वापस ले लिया था. इस बीच एमसीडी हड़ताल पर दिल्ली हाईकोर्ट ने सख्त रुख अख्तियार कर लिया है. कोर्ट ने सभी कर्मचारी यूनियनों के प्रतिनिधियों को 8 फरवरी को पेश होने का आदेश दिया है. कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि बीजेपी के शासन वाली एमसीडी और आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार के टकराव में आम लोग पिस रहे हैं.

स्थायी हल चाहते हैं कर्मचारी
देश की राजधानी में सैलरी नहीं मिलने से नाराज एमसीडी के कर्मचारी बेमियादी हड़ताल पर हैं. इस हड़ताल में तीनों एमसीडी के सफाईकर्मी, डॉक्टर और शिक्षक शामिल हैं. दिल्ली की कई जगहों पर कूड़े का अंबार लगा है. हड़ताल की वजह से स्कूलों में पढ़ाई और सड़कों पर सफाई नहीं हो पा रही है. दो दिन पहले ही दिल्ली सरकार ने एमसीडी के लिए 551 करोड़ रुपये के कर्ज का ऐलान किया था, लेकिन एमसीडी कर्मचारी समस्या का स्थायीसमाधान चाहते हैं.

 

LEAVE A REPLY