अगर इरादा मजबूत हो तो हर मुश्किल राह आसान हो जाती है. ये कर दिखाया है बिहार के होनहार ने. एक वेल्डर के बेटे को माइक्रोसॉफ्ट ने 1.02 करोड़ रुपये का पैकेज ऑफर किया है.

आईआईटी खड़गपुर में इंजीनियरिंग फाइनल ईयर के छात्र वात्सल्य सिंह चौहान ने बताया कि माइक्रोसॉफ्ट की ओर से उन्हें 1.02 करोड़ का पैकेज मिला है. वह इस साल अक्टूबर में कंपनी ज्वाइन करेंगे.

आईआईटी खड़गपुर के निदेशक ने दी बधाई
बिहार के खगड़िया के रहने वाले वाले वात्सल्य के पिता चंद्र कांत सिंह एक छोटी सी वेल्डिंग वर्कशॉप चलाते हैं. आईआईटी खड़गपुर के निदेशक ने इस कामयाबी के लिए उन्हें बधाई दी है.

शिक्षकों को दिया सफलता का श्रेय
आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम में 382वीं रैंक लाने वाले वात्सल्य ने कामयाबी का श्रेय अपने शिक्षकों को दिया है. उन्होंने कहा कि शिक्षकों के मार्गदर्शन के बिना यह संभव नहीं था. उन्होंने ऐसे समय में प्रोत्साहन दिया था जब वह निराश होकर घर लौटने वाले थे.

पिता ने कहा- सफल हुई 20 साल की मेहनत
वात्सल्य के पिता ने कहा, ‘मेरी 20 साल की मेहनत आखिरकार सफल हुई है. मेरा सपना साकार हुआ है. अब वह देश से बाहर जा रहा है. मैं चाहता हूं कि वह देश के लिए काम करे और दुनिया में देश का नाम रोशन करे.’चंद्र कांत के दो और बेटे और तीन बेटियां भी हैं. उन्होंने अपनी एक बेटी को मेडिकल की तैयारी के लिए कोटा भेज दिया है.

vatsalya_145469594021_650x425_020516115416

LEAVE A REPLY