दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि चार साल से ज्यादा उम्र के बच्चे अगले मंगलवार तक निजी स्कूलों में प्री-स्कूल या नर्सरी कक्षाओं में दाखिले के लिए आवेदन कर सकते हैं। कोर्ट ने उस सरकारी आदेश पर भी रोक लगा दी जिसके तहत प्रवेश स्तर पर दाखिले के लिए चार साल की उम्र सीमा तय कर दी गई थी।

पिछले दो दिनों में दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के लिए यह दूसरा झटका है। हाईकोर्ट ने गुरुवार को दिल्ली सरकार के उस आदेश पर रोक लगा दी थी कि जिसके तहत मैनेजमेंट कोटा के साथ-साथ नर्सरी में दाखिले के 11 अन्य मानदंडों को रद्द कर दिया गया था। न्यायालय ने कहा था कि बगैर किसी अधिकार के सरकार ने ये निर्देश जारी किए थे और यह उप-राज्यपाल के पहले के आदेश के विपरीत भी था।

दिल्ली सरकार की 18 दिसंबर की अधिसूचना पर रोक लगाते हुए न्यायमूर्ति मनमोहन ने कहा कि यह एक तरह से पिछली तारीख से लागू होने जैसा था और इससे दाखिला चाहने वाले बच्चे के अधिकारों में कटौती होती है। 18 दिसंबर की अधिसूचना में आप सरकार ने निजी स्कूलों में दाखिले के लिए उपरी उम्र सीमा तय कर दी थी ।

पीठ ने  कहा, 18 दिसंबर की अधिसूचना एक तरह से पिछली तारीख से प्रभावी हो रही थी और इससे दाखिला मांगने के किसी बच्चे के मौलिक अधिकार का भी हनन हो रहा है, क्योंकि दाखिला प्रक्रिया शुरू होने से एक दिन पहले ही इसकी घोषणा की गई थी।

बहरहाल, अदालत ने कहा कि वह दिल्ली सरकार के वकील की इस दलील से सहमत है कि उसे विशेषज्ञ निकाय की ओर से लिए गए सरकारी फैसले में दखल से परहेज करना चाहिए था, लेकिन अभिभावकोंं को अपने बच्चे के भविष्य की योजना बनाने के लिए ज्यादा समय दिया जाना चाहिए था।

अदालत ने निर्देश दिया कि चार साल से ज्यादा उम्र के सभी बच्चे नौ फरवरी को शाम चार बजे तक या इससे पहले शैक्षणिक सत्र 2016-17 में प्री-स्कूल या नर्सरी में दाखिले के लिए आवेदन कर सकते हैं।Nursery-05-02-2016-1454681669_storyimage

LEAVE A REPLY