देश के जाने माने कार्टूनिस्ट सुधीर तैलंग का आज यहां अपने निवास पर लम्बी बीमारी के बाद निधन हो गया। वह 56 वर्ष के थे। तैलंग पिछले डेढ़ साल से ब्रेन कैंसर से पीड़ित थे। उनके परिवार में पत्नी और एक बेटी है। उनका अंतिम संस्कार कल अपराह्न दो बजे लोधी रोड स्थित शवदाह गृह में किया जायेगा।

आर.के.लक्ष्मण, सुधीर धर, अबु इब्राहिम और मिक्की पटेल जैसे कार्टूनिस्टों की तरह लोकप्रिय एवं चर्चित तैलंग का जन्म राजस्थान में हुआ था और वहीं से उन्होंने पढाई लिखाई की थी। उन्होंने बीएससी करने के बाद अंग्रेजी में एम.ए किया था।

तैलंग ने कार्टूनिस्ट के रूप में अपने करियर की शुरूआत ‘इलस्ट्रेटेड वीकली’ से की थी और 90 के दशक के शुरूआती वर्ष ही वह ‘नवभारत टाइम्स’ में आ गये थे। राजनीतिक नेताओं पर बनाये गये उनके कार्टून देशभर में लोगों को आकर्षित करते रहे। कार्टून के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए उन्हें वर्ष 2004 में पद्मश्री से अलंकृत किया गया था।

तैलंग कुछ साल इंडियन एक्सप्रेस में भी रहे। उन्होंने अपना सर्वाधिक समय ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ में बिताया जहां वह देश के दिग्गज कार्टूनिस्ट के रूप में मशहूर हुए। हिंदुस्तान टाइम्स के बाद वह एशियन एज में चले गये थे। पिछले डेढ़ वर्ष से वह कैंसर से जूझ रहे थे।

plw

LEAVE A REPLY