अपनी बयानबाजी से विवादों में रहने वाले उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री आजम खान के नए सनसनीखेज बयान के लिए बीजेपी ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से सफाई मांगी है.

पार्टी के राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा कि अखिलेश सरकार के इशारे पर ही आजम ने प्रधानमंत्री और दाऊद इब्राहिम के मुलाकात का नया आपत्तिजनक बयान दिया है.

अखिलेश यादव पेश करें सबूत
शर्मा ने कहा कि सपा सरकार की असफलताओं से जनता का ध्यान भटकाने के लिए ऐसे बयान दिए जा रहे हैं. अखिलेश इसका सबूत पेश करें या फिर गलती स्वीकार करें और यह भी बताएं कि उनके कार्यकाल में उत्तर प्रदेश में किस तरह आपराधिक गतिविधियां बढ़ी हैं और उसमें मंत्री भी शामिल हैं.

पीएम मोदी और दाऊद की मुलाकात
इससे पहले आजम खान ने शनिवार को एक बड़ा विवादास्पद बयान दिया था. सपा के दिग्गज नेता ने दावा किया था कि पाकिस्तान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके समकक्ष नवाज शरीफ की बैठक के दौरान कमरे में अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम भी मौजूद था. यही नहीं, सपा नेता ने कहा कि उनके पास इस बात के पक्के सबूत भी हैं.

सीएम के इशारे पर आजम का बयान
केंद्र सरकार की ओर से शनिवार को ही इसका पुरजोर खंडन कर दिया गया था. रविवार को पार्टी की ओर से श्रीकांत ने इसके लिए सीएम अखिलेश को ही जिम्मेदार ठहराया और कहा कि मुख्यमंत्री के इशारे पर ही आजम खान ने मुजफ्फरनगर में दंगा कराया था. सपा नेतृत्व की शह पर ही आजम खान ने करोड़ों का घोटाला किया.

bjp_145487511449_650x425_020816013456

नाकामी छिपाने के लिए बयानबाजी
श्रीकांत ने कहा कि सच्चाई यह है कि राज्य बेहाल है, अर्थव्यस्था खस्ताहाल है, अपराध चरम पर है, पुलिस भी नाकाम और असमर्थ है. उत्तर प्रदेश अपराध नियंत्रण ब्यूरो की रिपोर्ट बताती है कि राज्य में रोजाना औसतन दस बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं. जबकि दूसरी ओर सैफई में नेता नाच-गाने में मशगूल होते हैं. अब चुनाव सिर पर है, तो सपा सरकार की इस नाकामी को छिपाने के लिए बयानबाजी हो रही है.

LEAVE A REPLY