17 मार्च को तय होगा म्यामां के नए राष्ट्रपति का नाम

म्यामां में सैन्य नियंत्रण वाली सरकार से सत्ता का हस्तांतरण लोकतंत्र समर्थक आंग सान सू की के दल को करने के बारे में एक स्पष्ट समय सीमा तय करते हुए एक अधिकारी ने सोमवार को कहा कि म्यामां के अगले राष्ट्रपति और दो उपराष्ट्रपतियों के नाम 17 मार्च को बताए जाएंगे।

संसद के अध्यक्ष मान विन खाइंग थान ने घोषणा की कि ऊपरी सदन, निचले सदन और सेना को 17 मार्च से पहले तीनों पदों के लिए एक-एक उम्मीदवार चुनना होगा और उसी दिन उनके नाम के अभ्यावेदन संसद में जमा करवाने होंगे। चूंकि संविधान के एक प्रावधान के चलते, सू की खुद राष्ट्रपति नहीं बन सकती हैं, ऐसे में इस बात के प्रबल संकेत मिल रहे हैं कि उनका रास्ता रोक रही संवैधानिक बाधा को हटाने के लिए उनके और सेना के बीच की वार्ताएं 17 मार्च तक पूरी हो सकती हैं।

जब 664 सदस्यीय संसद के समक्ष तीनों नाम रख दिए जाएंगे, उसके बाद सभी सदस्य मतदान करेंगे। जिस व्यक्ति को सबसे ज्यादा वोट मिलेंगे, वह राष्ट्रपति बनेगा और शेष दो लोग उपराष्ट्रपति बनेंगे। यह स्पष्ट नहीं है कि मतदान होना कब है लेकिन मौजूदा राष्ट्रपति का कार्यकाल 31 मार्च को पूरा हो रहा है और अगले राष्ट्रपति को एक अप्रैल से कार्यभार संभालना ही होगा।

सू की के दल नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी के पास संसद के दोनों सदनों में बहुमत है। उसे राष्ट्रपति पद और दो उपराष्ट्रपति पदों में से एक पद मिलना तय ही है। एनएलडी को आठ नवंबर के आम चुनाव में भारी जीत मिली थी। लेकिन सू की के हाथ संविधान के अनुच्छेद 59(एफ) के कारण बंधे हुए हैं। यह अनुच्छेद कहता है कि विदेशी जीवनसाथी या विदेशी बच्चों वाला कोई भी व्यक्ति कार्यकारी पद पर काबिज नहीं हो सकता। सू की के दिवंगत पति ब्रितानी नागरिक थे और उनके दोनों बेटे भी ब्रितानी हैं।

फिर भी वह इस प्रावधान को हटाने के लिए कमांडर-इन-चीफ जनरल मिन आंग लियांग के साथ बातचीत कर रही हैं। इस प्रावधान को कानूनी तौर पर निरस्त करने के लिए संसद में 75 प्रतिशत जमा एक वोट चाहिए। संसद में सेना के पास 25 प्रतिशत सीटें हैं, जो कि सभी अनिर्वाचित हैं। इसका अर्थ यह है कि एनएलडी खुद इस प्रावधान को निरस्त नहीं कर सकती।

हालांकि प्रावधान को एक सामान्य बहुमत के जरिए निरस्त किया जा सकता है लेकिन इसके बारे में कोई निश्चित नहीं है कि आगे क्या होना है। रविवार को सरकार समर्थक चैनलों- स्काई नेट और म्यामां नेशनल टेलीविजन ने अलग-अलग प्रसारणों में कहा, संविधान के अनुच्छेद 59(एफ) के निलंबन के लिए चल रही बातचीत के सकारात्मक नतीजे आ सकते हैं।

एनएलडी के एक वरिष्ठ सदस्य और सांसद क्यॉ त्वे ने असोसिएटेड प्रेस को बताया कि मुझे लगता है कि सबकुछ ठीक हो जाएगा। बातचीत का नतीजा हमारी नेता आंग सान सू की के राष्ट्रपति बनने के लिहाज से सकारात्मक होगा, लेकिन एक राजनीतिक विश्लेषक यान म्यो थीन ने सावधानी बरतने की हिदायत दी है।

 

LEAVE A REPLY