टैक्स के विरोध में एम्बुलेंस चालकों की हड़ताल

दिल्ली-हरियाणा में प्राइवेट एम्बुलैंस चालकों ने सोमवार को हड़ताल कर दी। जिसके अस्पतालों से मरीजों को आने-जाने में परेशानियां झेलनी पड़ी। सबसे ज्यादा परेशानी गर्भवती महिलाओं व रेफर हुए मरीजों को झेलनी पड़ी।

सोमवार को एक व्यक्ति के शव को परिजनों को हड़ताल की वजह से अपने निजी वाहनों में ले जाना पड़ा।  ऐसे ही एक अन्य मामले में अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद जच्चा-बच्चा को परिवार वाले घर ले जाने के लिए भी एम्बुलेंस नहीं मिली। उन्हें भी अपने निजी वाहन में घर ले जाना पड़ा।

ऑल इंडिया एंबूलेंस वेलफेयर एसोसिएशन फरीदाबाद के प्रधान प्रेम सिंह ने बताया कि वर्ष 2011 में सरकार ने निजी एम्बुलेंस के ऊपर टैक्स लगाने के लिए नया एक्ट बनाया था। तब एसोसिएशन के विरोध पर यह मामला खत्म हुआ था। लेकिन नई सरकार के आने के बाद  27 जनवरी को चंड़ीगढ़ से ट्रांस्पोर्ट कमिशनर ने उन्हें वर्ष 2011 से 2015 तक पूरा टैक्स जुर्माने के साथ भरने के आदेश दिए।

जिससे लेकर उनकी एसोसिएशन इसका विरोध कर रही है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने उनकी मांग नहीं मानी तो एसोसिएशन आगे भी विरोध प्रदर्शन करती रहेगी।

LEAVE A REPLY