दक्षिण एशियाई खेल: 28 स्वर्ण पदकों के साथ भारत का दबदबा जारी

मेजबान भारत ने तैराकी, भारोत्तोलन, कुश्ती और साइक्लिंग में अपना दबदबा कायम रखते हुए 12वें दक्षिण एशियाई खेलों के तीसरे दिन रविवार को अपनी स्वर्ण पदक संख्या 28 पहुंचा दी और कुल पदक संख्या के मामले में भी वह सबसे आगे निकल गया।

भारत के 28 स्वर्ण, 12 रजत और तीन कांस्य सहित कुल 43 पदक हो चुके हैं। श्रीलंका आठ स्वर्ण सहित 38 पदकों के साथ दूसरे और पाकिस्तान दो स्वर्ण सहित 13 पदकों के साथ तीसरे स्थान पर है। बांग्लादेश ने भी दो स्वर्ण जीतकर पदक तालिका में अपनी स्वर्णिम उपस्थिति बना ली है।

मेजबान भारत ने तरणताल में अपना दबदबा कायम रखते हुए दो सैग खेल रिकॉर्ड सहित चार स्वर्ण पदक जीत लिए। भारोत्तोलन में मेजबान को तीन स्वर्ण हाथ लगे जबकि कुश्ती में भारतीय पहलवानों ने अपना तूफानी प्रदर्शन कायम रखते हुए चार स्वर्ण पदक जीत लिए। वुशू और साइक्लिंग में भारत को एक-एक स्वर्ण पदक हासिल हुआ।

स्टार तैराक संदीप सेजवाल ने तरणताल में अपना तहलका जारी रखते हुए पुरुषों की 100 मी ब्रेस्ट स्ट्रोक स्पर्धा में एक मिनट 03.14 सेकेंड का समय लेकर स्वर्ण जीत लिया। भारत के पुनीत राणा को रजत मिला। साजन प्रकाश ने पुरुषों की 1500 मी फ्री स्टाइल स्पर्धा में 15 मिनट 55.34 सेकेंड का रिकॉर्ड समय लेकर सोना अपने नाम किया। सौरभ सांगवेकर ने रजत जीता।

सयानी घोष ने भी महिलाओं की 400 मीटर व्यक्तिगत मेडले स्पर्धा में पांच मिनट 14.51 सेकेंड का नया रिकॉर्ड बनाकर स्वर्ण जीता। श्रद्धा सुधीर ने देश को रजत दिलाया। एम अरविंद ने पुरुषों की 200 मीटर बैक स्ट्रोक स्पर्धा में दो मिनट 08.00 सेकेंड के समय के साथ स्वर्ण जीता। महिलाओं की 200 मीटर बैक स्ट्रोक स्पर्धा में भारत की माना पटेल के हिस्से रजत आया।

महिलाओं की 100 मीटर बैक स्ट्रोक स्पर्धा में भारत की चाहत अरोड़ा कांस्य पदक पर ही ठिठक गयीं। पुरुषों के 50 मीटर फ्री स्टाइल मुकाबले में भारत के स्टार तैराक वीर धवल खाड़े 23.54 सेकेंड का समय लेकर रजत ही हासिल कर पाये।

भारोत्तोलन में अजय सिंह ने पुरुषों के 77 किग्रा वर्ग, सांबो लापुंग ने 69 किग्रा वर्ग में और सरस्वती राउत ने  महिलाओं के 58 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीते। अजय ने 77 किग्रा वर्ग में स्नैच में 136 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 169 किग्रा सहित कुल 305 किग्रा वजन उठाया।

सांबो ने स्नैच में 123 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 158 किग्रा वजन उठाया। उन्होंने कुल 281 किग्रा वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीता। श्रीलंका के इंडिका दिसानायके ने भी 281 किग्रा वजन उठाया लेकिन उन्हें शरीर के वजन में सांबो से अधिक होने के कारण रजत से संतोष करना पड़ा। सांबो का शारीरिक वजन 68.8 किग्रा और इंडिका का 69 किग्रा था। सरस्वती ने स्नैच में 80 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 107 किग्रा सहित कुल 187 किग्रा वजन उठाकर स्वर्ण जीता।

साइक्लिंग में भारतीय महिलाओं को 40 किलोमीटर क्रीटेरियम स्पर्धा के स्वर्ण और रजत पदक मिले। मेजबान टीम की लिडियामोल सन्नी मेनमपरंबिल ने कुल 30 अंक हासिल कर स्वर्ण पदक जीता जबकि हमवतन मनोरमा देवी तोंगब्राम ने 26 अंकों के साथ रजत पदक हासिल किया। मनोरमा आधे समय तक आगे चल रही थीं लेकिन बीच में एक हादसे के कारण वह पीछे हो गयीं। हालांकि उन्होंने तुरंत रिकवरी करते हुए रजत पदक हासिल किया।

महिला हॉकी में भारतीय टीम ने अपने अभियान की जोरदार शुरुआत करते हुए नेपाल को 24-0 से रौंद दिया। स्क्वैश में भारत की जोशना चिनप्पा फाइनल में पहुंच गयीं लेकिन पुरुष वर्ग में सौरभ घोषाल और हिरदर पाल सिंह को सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा।

LEAVE A REPLY