सियाचिन हिमनद में हुए हिमस्खलन में भारी बर्फ के नीचे दफन होने के 6 दिन बाद चमत्कारिक रूप से जीवित निकले लांस नायक हनामनथप्‍पा को मंगलवार को विशेष एयर एंबुलेंस के जरिए दिल्ली के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल लाया जा गया।

सेना के सूत्रों ने बताया कि सियाचिन स्थित सेना के आधार शिविर से लांस नायक को पालम टेक्निकल एयरपोर्ट लाया गया, जहां से उन्हें अस्पताल ले जाया गया।

पाकिस्तान से सटे नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास 19,600 फुट की उंचाई पर स्थित चौकी के हिमस्खलन की चपेट में आ जाने के बाद मूल रूप से कर्नाटक के निवासी थप्‍पा छह दिन तक 25 फुट मोटी बर्फ के नीचे दफन थे। उन्हें सोमवार को बाहर निकाला गया। यहां पर तापमान शून्य से 45 डिग्री नीचे था।

नॉदर्न आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डी एस हुडडा के मुताबिक, चौकी पर तैनात एक जूनियर कमीशंड अधिकारी और मद्रास रेजिमेंट रैंक के आठ अन्य सहित कुल नौ सैनिकों की मौत हो गई है। उन्होंने बताया, अब तक पांच शव बरामद किए गए हैं और चार शवों की पहचान हो गई है।thappa-09-02-2016-1455001006_storyimage

LEAVE A REPLY