पहले टी-20 मैच में श्रीलंका की युवा टीम जोशिले अंदाज में दिखी और धौनी के धुरंधरों का अतिउत्साह उन्हें ले डूबा और ऑस्ट्रेलिया में T20 जीतने का लय टूट गया। भारत 12 गेंद बाकी रहते पांच विकेट से हरा दिया। भारतीय टीम 18.5 ओवर में 101 रन पर ढेर हो गई। यानी पूरे 20 ओवर भी नहीं खेल पाई।

आइए जानते हैं भारतीय टीम और धौनी के धुरंधरों की पांच बड़ी गलतियां जिनसे वे मैच हार गए और टूट गई जीत की लयः

1. ओपनर रोहित शर्मा और शिखर धवन दोनों को उछाल भरी पिच में खेलने का अनुभव था इसके बावजूद दोनों ने बिना गेंद की उछाल और स्विंग को देखे शुरुआती दो विकेट लंकाई गेंदबाज रजिथा को तोहफे में दे दी।

2. अचिंक्य रहाणे, युवराज, कप्तान धौनी समेत शुरुआती बल्लेबाजों को विकेट की हालत देखते हुए समझदारी दिखाते हुए धीमे खेलने की रणनीति दिखानी चाहिए थी। यही गलती श्रीलंका ने नहीं की और पिच को भांपते हुए विकेट बचाकर रखा और बाद में तेज खेलकर जीत अपनी झोली में डाल लिया।

3. कल श्रीलंका के खिलाफ भारत ने छह विकेट सिर्फ कैच में गंवाए हैं। अगर आप गौर करें तो सभी कैच में भारतीय बल्लेबाजों ने बॉल को बैट पर ठीक से लिए बगैर ही गलत दिशा दी और वो श्रीलंकाई चुस्त फील्डिंग के आगे मजबूर दिखे।

4. इस मैच में धौनी बतौर कप्तान जो अपनी सूझबूझ और चतुराई के लिए जाने जाते हैं वो थोड़ा कमजोर दिखा। लगा जैसे कल पहली बार वो उछाल भरी पिच पर खेलने उतरे हों। पुणे अपने देश का ग्राउंड था इसलिए उन्हें इस पिच की जानकारी होना आवश्यक था और रणनीति भी उसी के आधार पर बनाई जानी चाहिए थी।

5. गेंदबाजी के दौरान शुरुआती 10 ओवर तक मैच पकड़ में होने के बावजूद टीम इंडिया की रणनीति फ्लॉप साबित हुई और श्रीलंकाई टीम की समझदारी से धीरे धीरे रन बनते गए और अंत में जीत हासिल कर ली। अंत के पांच ओवर में तो ये लगने लगा था कि अगर भारत के पास 20 रन भी और होते तो भारत मैच को अपने पक्ष में करने में सक्षम हो सकता था। श्रीलंका टीम पर तेज बैटिंग का दबाव कभी नहीं रहा, इसी कारण ये भी उनकी जीत का बड़ा कारण माना जा सकता है।dhoni-10-02-2016-1455076773_storyimage

LEAVE A REPLY