राजधानी में ऑड-ईवन फॉमूले को फिर से लागू करने पर केजरीवाल सरकार आज अपना फैसला सुना सकती है। व्यवस्था कब से और कैसे लागू होगी इसका ऐलान आज मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल करेंगे। दिल्ली सरकार ने बुधवार को नंबर नियम पर लोगों के रुझान की रिपोर्ट शिक्षा व परिवहन विभाग से मांगी। इसी के आधार पर सरकार आगे की रणनीति का खुलासा करेगी।

राजधानी के 78 फीसदी लोग चाहते हैं नंबर नियम दोबारा लागू हो

चेंज डॉट ओआरजी द्वारा किए गए एक सर्वे में 78 फीसदी दिल्लीवालों ने कहा है कि नंबर नियम दोबारा से लागू होना चाहिए। 53 प्रतिशत की राय है कि यह नियम स्थायी तौर पर लागू हो। यह रिपोर्ट दिल्ली सरकार को सौंप दी गई है।

जनता के सुझाव और आंकलन के आधार पर होगा फैसला

दिल्ली सरकार ने चार तरीकों से आम जनता की राय ली। ये राय वेबसाइट, मिस्डkejri-11-02-2016-1455162446_storyimage कॉल, रैंडम कॉल, मोहल्ला सभा और 9 हजार ई-मेल के माध्यम से आई हैं। इन सुझावों को प्राथमिकता के आधार पर 20 श्रेणी में बांटा गया है। सुझावों में सम-विषम व्यवस्था को फिर से लागू करने के लिए प्राथमिकता से लोगों ने समर्थन किया है। इसके अतिरिक्त दोपहिया वाहनों और महिलाओं को इस दायरे से हटाने के मामले में भी राय सामने आईं हैं।

दिल्ली सरकार का मानना है कि अभी दोपहिया चालकों को इस दायरे से बाहर ही रखा जाए क्योंकि इन यात्रियों के हिसाब से पर्याप्त व्यवस्था होनी जरूरी है। इसलिए इस बार भी दोपहिया चालक दायरे से बाहर ही रहेंगे। महिलाओं को अनुमति दी जाए या नहीं। इस पर स्थिति करीब-करीब 50 प्रतिशत के बीच रही है।

मार्च में स्कूली बच्चों की परीक्षाएं होनी है। इस दौरान भी व्यवस्था को लागू करने पर सवाल किए गए हैं। इन मामलों पर सरकार की ओर से शिक्षा विभाग और यातायात विभाग से जवाब मांगा गया है। इसके आधार पर ही तय होगा कि इस दौरान व्यवस्था किस प्रकार की होगी। इस वजह से ही दिल्ली सरकार सम-विषम योजना का ऐलान बुधवार को दिल्ली सरकार नहीं कर सकी।
कौन सी तारीख से शुरू हो
5407 ने कहा, 14 फरवरी से
2840 बोले, 1 मार्च से
1441 की राय, एक अप्रैल से
826 ने कहा, एक मई से

दूसरी कार लेंगे या नहीं
9691 ने कहा, योजना लागू होने पर नई कार नहीं खरीदेंगे
823 बोले, दूसरी कार लेंगे
नोट: 92 फीसदी दूसरी कार नहीं खरीदेंगे

LEAVE A REPLY