टेरी के कार्यकारी उपाध्यक्ष आरके पचौरी पर और एक महिला ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। महिला का दावा है कि पचौरी ने कई अन्य महिलाओं का उत्पीड़न किया। उसने आरोप लगाया कि शिकायत करने के बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

इस बीच टेरी के 2013-15 बैच के स्टूडेंट्स ने सात मार्च 2016 को होने वाले दीक्षांत समारोह में पचौरी के हाथों डिग्री लेने से इनकार कर दिया है। उनका कहना है कि पचौरी के खिलाफ मैनेजमेंट के कोई कार्रवाई ने करने से वे दुखी हैं।

आरोप का समय अहम
महिला ने सनसनीखेज आरोप पचौरी की प्रोन्नति की औपचारिक घोषणा के महज दो दिन बाद लगाए हैं। इससे पहले टेरी की एक पूर्व महिला कर्मी ने भी उन पर यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज करा चुकी है।

पुलिस ने मदद नहीं की
शिकायत कराने वाली महिला की वकील वृंदा ग्रोवर ने बुधवार को बताया कि उनकी मुवक्किल ने पचौरी के उत्पीड़न से तंग आकर वर्ष 2003 में ही ऊर्जा और शोध संस्थान (टेरी) छोड़ दिया था। ग्रोवर का दावा है कि उनके माध्यम से पीड़िता ने बकायदा इसकी शिकायत पुलिस से की थी। लेकिन पुलिस ने पचौरी के खिलाफ मामला दर्ज करने में सहयोग करने से इंकार कर दिया।

ऐसे हिम्मत मिली
ग्रोवर ने बताया कि पचौरी के खिलाफ ऐसे ही मामले में 29 वर्षीय एक महिला कर्मी द्वारा मुकदमा दर्ज करवाने के बाद उनकी मुवक्किल में आगे आने की हिम्मत आई। पीड़िता ने अपनी वकील ग्रोवर व रत्ना अप्पेंदर के माध्यम से पांच पन्नों में पूरे घटनाक्रम से अवगत कराया है। महिला की शिकायत के मुताबिक, पचौरी उनसे संस्थान के बाहर मिलने की कोशिश करते थे। उन्होंने टेरी के प्रशासनिक निदेशक के समक्ष यह मुद्दा उठाया था जिन्होंने उसके आरोपों पर यकीन करने से इनकार कर दिया था।

महिला ने जो आरोप लगाए
1. टेरी में मेरे शामिल होने और पचौरी से बातचीत शुरू होने के शीघ्र बाद उन्होंने मुझे एक अभद्र नाम दिया।
2. पचौरी ने धमकी दी कि मैं जहां कहीं भी जाऊंगी, वे देखेंगे कि मैं उनकी नौकरी को कैसे छोड़ती हूं।
3. महिला ने दावा किया कि पचौरी कई बार मेरी व्यक्तिगत जिंदगी को टटोलने की कोशिश करते रहते थे
4. टेरी प्रेस के तत्कालीन निदेशक कोमोडोर जोशी ने मेरी बात मानने से साफ इनकार कर दिया था

ओरोपों का खंडन
उधर, पचौरी के वकील आशीष दीक्षित ने आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि यह कोई नए आरोप नहीं है। सुनवाई से पहले मीडिया में चर्चा के लिए इस तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं।

Pachauri-11-02-2016-1455166857_storyimage

LEAVE A REPLY