'श्रीलंका के खिलाफ मिली हार खतरे की घंटी'

टीम इंडिया को श्रीलंका के खिलाफ पुणे टी-20 मैच में पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा। इस हार पर पूर्व कप्तान और दिग्गज क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने कहा कि यह टीम इंडिया के लिए खतरे की घंटी है।

गावस्कर ने कहा कि बल्लेबाजों को श्रीलंकाई तेज गेंदबाजों की तिकड़ी को अधिक सम्मान देना चाहना चाहिए था। पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने पहले ही ओवर में दो विकेट गंवा दिए थे। पूरी टीम महज 101 रन पर आउट हो गई थी।

गावस्कर ने कहा, ‘भारत ने पहले ओवर में दो विकेट गंवाए और उसके बाद छक्का लगाने के चक्कर में शिखर धवन आउट हो गए। भारत को श्रीलंका के उस आक्रमण का सम्मान करना चाहिए था जिसे उसने पहले देखा नहीं था। आपने भले ही वीडियो देखे हों लेकिन जब आप उन्हें पहली बार खेलते हैं तो कठिन रहता है।’

उन्होंने कहा, ‘ये गेंदबाज अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं लिहाजा उनके खिलाफ थोड़ी एहतियात बरती जाती और उन्हें सम्मान दिया जाता तो 30-40 रन और बन सकते थे।’ उन्होंने कहा, ‘मेरी ईमानदार सलाह यह है कि भारतीयों के लिए यह अच्छी खतरे की घंटी है। उन्हें पता चल गया कि श्रीलंका क्या कर सकता है लिहाजा बाकी दो मैचों के लिए टीम बेहतर तैयार होगी।’

LEAVE A REPLY