क्रिकेट में स्लेजिंग पर नकेल कसने की तैयारी हो रही है। फुटबॉल और हॉकी की तर्ज पर अब क्रिकेट में भी रेड और येलो कार्ड दिखाए जाने का इंतजाम किया जा सकता है।

मैरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने क्रिकेट में दुर्व्यवहार पर रोक लगाने के लिए एक्सपेरिमेंट के तौर पर कार्ड सिस्टम अपनाने का फैसला किया है, जिसके तहत किसी खिलाड़ी को रेड कार्ड दिखाकर मैदान से बाहर कर दिया जाएगा या 10 ओवर के लिए पेनाल्टी बॉक्स में भेज दिया जाएगा। एमसीसी अभी इसे क्लब, यूनिवर्सिटी और स्कूल स्तर पर शुरू करेगी।

इंग्लैंड में पिछले साल कम से कम पांच मैच खिलाड़ियों के खराब बर्ताव के चलते रद्द करने पड़े थे। एमसीसी ने वर्ल्ड लेवल पर अंपायरों के संघों से विचार-विमर्श कर दुर्व्यवहार के चार स्तरों का निर्धारण कर उनके लिए आचार संहिता बनाई है।

प्रस्ताव में चौथी श्रेणी के दुर्व्यवहार के अंतर्गत अंपायर को धमकी देना, किसी खिलाड़ी, अधिकारी या दर्शक पर हमला करना और नस्लीय टिप्पणी करना शामिल है। अगर बल्लेबाज इस श्रेणी के तहत दोषी पाया गया तो उसे रिटायर्ड आउट कर दिया जाएगा।

वहीं तीसरे श्रेणी के तहत दोषी पाए जाने पर किसी खिलाड़ी को 10 ओवर के लिए पेनाल्टी बॉक्स में भेज दिया जाएगा। इससे कमतर अपराध का दोषी पाए जाने पर संबंधित टीम पर पांच रन की पेनाल्टी लगाई जा सकती है।Card_crick-11-02-2016-1455168850_storyimage

LEAVE A REPLY