परित्यक्त, अनाथ व गुमशुदा बच्चों की जानकारी मीडिया में दे- कलेक्टर
 कलेक्टर डाॅ बसवराजु एस ने परित्यक्त, अनाथ एवं गुमशुदा बच्चों का विवरण 48 घंटे के भीतर समाचार पत्र एवं मीडिया के माध्यम से अनिवार्य रूप से प्रकाशित करने के लिये कहा है। उन्होंने कहा कि यदि बच्चों का विवरण नियत समय में समाचार पत्रों में प्रकाशित नहीं किया जाता तो बच्चों को दत्तक हेतु मुक्त करने की कानूनी प्रक्रिया अपूर्ण रहती है। यह वैधानिक कार्यवाही है। उन्होंने जिला स्तर पर जिला बाल संरक्षण अधिकारी एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग को निर्देशित किया कि राज्य बाल संरक्षण इकाई के कार्यक्रम प्रबंधक से जिला के गुमशुदा, परित्यक्त व अनाथ बच्चों की जानकारी नियमित रूप से देते रहे।
सबके लिए आवास मिशन’ का पंजीयन नया रायपुर में 23 जनवरी से प्रारंभ
 कलेक्टर डाॅ बसवराजु एस ने जानकारी दी है कि प्रधानमंत्री के ‘‘सबके लिए आवास मिशन’’ अंतर्गत नया रायपुर में मुख्यमंत्री आवास योजना का पंजीयन 23 जनवरी 2016 से प्रारंभ किया गया है। इस योजनांतर्गत नया रायपुर में छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल द्वारा एल.आई.जी. तथा ई.डब्ल्यू.एस. भवनों का वृहद स्तर पर निर्माण किया जा रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजनांतर्गत प्रति ई.डब्ल्यू.एस. भवन पर केन्द्र शासन द्वारा रूपये 1.50 लाख अनुदान तथा मुख्यमंत्री आवास योजनांतर्गत रूपये 1 लाख अनुदान दिया जा रहा है, जिससे यह रूपये 6 लाख का भवन हितग्राही को 3.50 लाख में उपलब्ध कराया जाएगा। इसी प्रकार एल.आई.जी. भवन पर राज्य शासन द्वारा रूपये 50 हजार अनुदान दिया जा रहा है तथा पात्र आवेदकों को प्रधानमंत्री आवास योजनांतर्गत आवास ऋण पर 6.50 प्रतिशत ब्याज दर में सब्सिडी प्रदान की जा रही है। इससे यह रूपये 9 लाख का भवन 6.50 लाख में हितग्राही को उपलब्ध हो सकेगा। उन्होंने जिला स्तरीय अधिकारियों को उक्त का व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु शिविर आयोजित करने एवं अधिक से अधिक हितग्राहियों को लाभान्वित करने के निर्देश दिये है।
मुख्यमंत्री जन आवास योजना का पंजीयन प्रारंभ
कलेक्टर डाॅ बसवराजु एस ने बताया कि मुख्यमंत्री डाॅ रमन सिंह द्वारा राष्ट्र के 67 वें गणतंत्र दिवस पर ‘‘मुख्यमंत्री जन आवास योजना’’ का शुभांरभ किया गया है। छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल द्वारा मुख्यमंत्री जन आवास योजना के अंतर्गत सभी जन सामान्य को मंडल के निर्मित एवं निर्माणधीन चिन्हित योजनाओं में उपलब्ध भवन में 10 प्रतिशत की छूट देकर आबंटित किया जाना है। यह योजना 26 जनवरी से प्रारंभ कर 31 मार्च 2016 तक प्रभावी है। पूर्व में मुख्यमंत्री कर्मचारी आवास योजनांतर्गत शासकीय कर्मचारियों को मंडल के भवन 10 प्रतिशत छूट के साथ उपलब्ध कराए जा रहे है, किन्तु अन्य वर्गो के नागरिकों के द्वारा भी छूट की मांग किये जाने पर योजना का प्रार्दुभाव किया गया है। चिन्हित भवनों का आबंटन लाॅटरी की प्रक्रिया को समाप्त कर ‘प्रथम आओ-प्रथम पाओ’’ आधार पर आवेदक के स्वेच्छानुसार किया जा रहा है। योजनांतर्गत उपलब्ध भवनों का विवरण छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल की वेब साईट ूूूण्बहीइण्हवअण्पद पर भी उपलब्ध है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को शिविर आयोजन कर वृहद स्तर पर प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये हैं।
विभिन्न पदों हेतु रोजगार कार्यालय में आवेदन आमंत्रित
जिला रोजगार अधिकारी ने जानकारी दी कि ईमामी सीमेन्ट प्लांट रिसदा में विभिन्न पदों हेतु रोजगार कार्यालय द्वारा आवेदन आमंत्रित किया गया है। जिसमें डीजीएम एवं एजीएम एक पद योग्यता बीई, बीटेक रसायन एवं एमएससी रसायन, 15 से 20 वर्ष का सीमेन्ट प्लांट में अनुभव आयु सीमा 40 से 55 वर्ष, सहायक मैनेजर, सीनियर इंजीनियर, इंजीनियर मेकनिकल 23 पद, योग्यता बीई, बीटेक, डिप्लोमा मेकनिकल, 3 से 10 वर्ष का सीमेन्ट प्लांट में अनुभव, आयु 25 से 35 वर्ष, टेक्नीकल इन्स्ट्रूमेन्ट 3 पद, योग्यता आईटीआई इन्स्ट्रूमेन्ट, 5 से 15 वर्ष का सीमेन्ट प्लांट 25 से 35 वर्ष, सीनियर आफिसर, आफिसर एकाउंटेन्ट 2 पद योग्यता एमबीए फाइनेंस, एम.काॅम, बी.काॅम, 5 से 10 वर्ष सीमेन्ट प्लांट में अनुभव, आयु 25 से 35 वर्ष, मैनेजर, सहायक मैनेजर, सीनियर आफिसर, आफिसर 05 पद, योग्यता एमबीए मार्केटिंग, एमकाॅम, सेल्स मार्केटिंग में अनुभव 3 से 10 वर्ष, आयु 25 से 35 वर्ष, सीनियर आफिसर, आफिसर पर्चेस 02 पद, स्नातक, अनुभव सीमेन्ट प्लाॅट में 5 से 10 वर्ष, आयु 25 से 35 वर्ष, सीनियर केमिस्ट, केमिस्ट 03 पद, बीई, बीटेक केमिस्ट्री, एमएससी, बीएससी केमेस्ट्री,अनुभव 5 से 10 वर्ष, आयु 25 से 35 वर्ष, सहायक सुरक्षा अधिकारी 02 पद, स्नातक, 05 से 10 वर्ष अनुभव, 30 से 45 वर्ष, मैनेजर, डिप्टी मैनेजर स्टोर, 02, स्नातक, पीजीडीएमएम, 5 से 10 वर्ष अनुभव, आयु 25 से 40 वर्ष, आफिसर, सहायक आफिसर पैकिंग प्लाॅट 1 पद, स्नातक, 5 से 10 वर्ष अनुभव पैकिंग प्लाॅट, आयु 25 से 35 वर्ष, आफिसर, सहायक आफिसर, लाॅजिस्टीक 2 पद, स्नातक,  5 से 10 वर्ष का अनुभव, आयु 25 से 35 वर्ष शामिल है। इच्छुक आवेदक 25 फरवरी तक पोस्ट द्वारा स्वयं या ईमेल मउचसवलउमदजमगबींदहमण्इंसवकंइं्रंत/हउंपसण्बवउ से जिला रोजगार एवं स्वरोजगार मार्गदर्शन केन्द्र बलौदा बाजार में आवेदन पत्र आमंत्रित कर सकते है। जिससे आवेदन पत्रों के आधार पर बलौदा बाजार में प्लेसमेंट कैम्प आयोजित किया जा सके।
फोटो 01- बैठक लेते कलेक्टर
कलेक्टर ने ली जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा बैठक
कलेक्टोरेट के सभा कक्ष में आयोजित जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में कलेक्टर डाॅ बसवराजु एस. ने चिकित्सा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, चिरायु के तहत विकास खंडवार गठित दल बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण सावधानीपूर्वक करें। यह ध्यान रखे कि कोई बच्चा छुटने न पाये। चिन्हांकित बच्चों का ईलाज प्रतिमाह कैम्प लगाकर करें। जिला के सभी उपस्वास्थ्य केन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में संस्थागत प्रसव की समुचित व्यवस्था की गई है। जिन स्वास्थ्य केन्द्रों के लिये भवन नहीं है इनके लिये अन्य शासकीय भवनों का उपयोग किया जा रहा है। मितानिनों को आवश्यक रूप से निर्देशित करें कि घर में प्रसव नहीं कराना है, इससे जच्चा-बच्चा की जान को खतरा बना रहता है। दूरस्थ क्षेत्रों में मोबाईल वेन उपलब्ध होना होना चाहिए। मितानिनों को प्रोत्साहन राशि विकास खंडवार जारी कर दी गई है। इस बात का ध्यान रखे कि प्रोत्साहन राशि वितरण में लापरवाही न हो। यदि बैंक द्वारा राशि आहरण नहीं करने पर बैंक से सारी राशि निकालने के निर्देश दिये। जीवनदीप समिति में एकत्रित राशि का उपयोग स्वास्थ्य केन्द्रों के लिये उपयोगी सामग्री खरीदकर सुव्यवस्थित करें। इसके साथ-साथ साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दे। लापरवाह अधिकारी-कर्मचारी को निलंबित करने की कार्यवाही की जायेगी। स्वास्थ्य केन्द्रों में शौचालय अनिवार्य रूप से बनाने, जिला में 10 जन औषधि केन्द्र की स्थापना यथाशीघ्र करें, बच्चों की जीवन रक्षा के लिये शासन द्वारा विभिन्न टीकाकरण कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। चिकित्सा अधिकारी अनिवार्य रूप से प्रत्येक बच्चों को टीका लगाये तथा ध्यान रखे कि कोई बच्चा छुटना नहीं चाहिए। शत-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्ति के लिये गंभीरता से कार्य करें। जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में 12 राष्ट्रीय कार्यक्रमों जैसे कुष्ठ, टीबी, अंधत्व निवारण आदि की प्रगति तथा राष्ट्रीय एवं मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना की समीक्षा की गई। इस अवसर पर सीएमएचओ डाॅ प्रमोद तिवारी, खंड चिकित्सा अधिकारी सहित संबंधित अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY