भारतीय शेयर बाजार में आज बिकवाली के चलते इस साल की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई। बाजार में गिरावट का यह चौथे दिन है। कमजोर अंतरराष्ट्रीय संकेतों और कंपनियों के नाकरातमक नतीजों की वजह से बाजार में दबाव देखने को मिल रहा है। सेंसेक्स और निफ्टी में 3.5 फीसदी तक की कमजोरी आई है। 24 अगस्त 2015 के बाद आज निफ्टी, बैंक निफ्टी और सेंसेक्स में एक दिन की सबसे ज्यादा गिरावट दर्ज की गई है।

कमजोरी के इस माहौल में निफ्टी ने आज 6959.95 तक फिसला, वही सेंसेक्स 22909 तक टूटा। यह मई 2014 के बाद निफ्टी ने 7000 का अहम स्तर तोड़ा है। इस साल अभीतक निफ्टी 1000 अंक टूट चुका है। बाजार की इस सुनामी में निवेशकों के 3 लाख करोड़ रुपए का स्वाहा हो गया।

एशियाई बाजारों में गिरावट जारी है। लंबी छुट्टी के बाद हांगकांग का बेंचमार्क इंडेक्स हैंगसैंग कमजोरी के साथ खुला है। वहीं, नेशनल फाउंडेशन डे पर जापान का बेंचमार्क इंडेक्स निक्केई आज बंद है। इन सब निगेटिव संकेतों के चलते एसजीएक्स निफ्टी 57.50 अंक की गिरावट के साथ 7,192 पर कारोबार कर रहा है।  साथ ही सिंगापुर का इंडेक्स स्ट्रेट्स टाइम्स करीब 1 फीसदी की गिरावट के साथ 2,557 पर कारोबार कर रहा है। हैंगसेंग 3.96 फीसदी की भारी भरकम गिरावट के साथ 18,552 पर कारोबार कर रहा है।

LEAVE A REPLY