-अब नही निकलता नलों से पानी

(बुद्धेश्वर कुमार शुक्ल : कुचायकोट)

लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के द्वारा ग्रामीण जलापूर्ति योजना के तहत कुचायकोट मे जल मीनार बना कर स्वच्छ पानी की सप्लाई की गई थी ।जिसका उदघाटन पुर्व स्वास्थ्य मंत्री व सांसद माननीय श्री अश्विनी चौबे ने 08/08/2010 को वर्तमान विधायक अमरेन्द्र कुमार पांडेय की गरिमामयी उपस्थिती मे किया।
तब तो कुचायकोट की जनता को स्वच्छ पानी मिलने की उम्मीद पुरी हो गई थी।लेकिन अब वह सपना टूटता नजर आ रहा है ।जब हमारी सुनामी मिडीया की टीम ने इस मुद्दे को समझना चाहा तो जो तस्वीरें सामने आई वो हैरान कर देने वाली थी ।इस बात का अंदाजा आप भी तस्वीरों को देखकर लगा सकतें है ।पहले तस्वीर मे लाल घेरे के अंदर यह कोई खंभा नही बल्कि यह प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, कुचायकोट के उतरी गेट पर स्थित नल का फाउंडेशन है ।दुसरी तस्वीर रंजना नर्सिंग होम -करमैनी रोड पर स्थित ब्रम्ह स्थान के पास लगे खराब नल का फाउंडेशन और उपयोग मे चापाकल का है।ऐसे ही हमारे कैमरे की नजर से दुर कई नल पानी की बुंद के लिए तरस रहे है ।हमारी टीम जब पानी टंकी के पास पहुंची तो वहां के हालात कुछ और बयां कर रहे थे ।वहां बने स्टाफ रूम मे ताला लगा हुआ था ऐसा लग रहा था कि जैसे उदघाटन के बाद कोई आया ही नही है ।हमारी किसी भी बात का जबाव देने वाला कोई नही था। आखिर कैसे सुधरेगी स्वास्थ्य व्यवस्था ? यहां के स्थानीय जन प्रतिनिधि जनता के किस काम आयेंगे ।बिहार सरकार भी जनता के स्वास्थ्य प्रति जागरूक है पर कुचायकोट के लिये क्यों नही । स्थानीय प्रशासन से हमारी एक अपील की जलापूर्ति योजना को पुनः शुरू कराया जाय

12728995_559425877558505_5002262041228389956_n (1) 12728995_559425877558505_5002262041228389956_n 12745499_559425907558502_1695115890878101368_n

LEAVE A REPLY