जेएनयू में राष्ट्र विरोधी नारेबाजी मामले में छात्रों की गिरफ्तारी के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल होने के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने निशाना साधा है. उन्होंने राहुल की संसद सदस्यता को रद्द किए जाने की मांग की है.

मनोज तिवारी ने कहा है कि ‘देश की अखंडता के लिए कार्य करने की शपथ लेने वाले अगर राष्ट्र विरोधी नारे लगाने वालों का समर्थन करेंगे तो उन्हें लोकसभा सदस्य बने रहने का संवैधानिक अधिकार नहीं है.’ उन्होंने राहुल गांधी पर देशद्रोही बातों का समर्थन करने का आरोप लगाया.

राहुल गांधी को वहां जाने की क्या जरूरत थी
अभिनेता से नेता बने मनोज तिवारी ने कहा कि ‘अफजल गुरु के पक्ष में नारे लगे इसका समर्थन राहुल गांधी को वहां जाकर करने की जरुरत नहीं थी. एक ऐसा कार्यक्रम जो राष्ट्र के खिलाफ था उसमें कांग्रेस उपाध्यक्ष क्यों गए.’

केजरीवाल और येचुरी पर भी साधा निशाना
इतना ही नहीं मनोज तिवारी ने जेएनयू विवाद पर दिल्ली के मुख्यमत्री अरविंद केजरीवाल और सीपीआई(एम) महासचिव सीताराम येचुरी पर भी हमला बोला. उन्होंने कहा कि ‘ऐसी राजनीति देश को बहुत महंगी पड़ सकती है.’ तिवारी ने कहा कि ‘विरोध करना जरूरी है लेकिन जो भारत को बर्बाद करने और घर-घर से अफजल निकलेंगेके नारे लगा रहे हैं उनका समर्थन करना गलत है.’

राहुल ने छात्रों की आवाज दबाने को बताया था राष्ट्र विरोधी
दरअसल जेएनयू में देश विरोधी नारेबाजी पर घमासान के बीच कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी यूनिवर्सिटी कैंपस पहुंचे थे. वहां छात्रों को संबोधि‍त करते हुए उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधा था. छात्रों की गिरफ्तारी के विरोध में आयोजित सभा को संबोधि‍त करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि छात्रों की आवाज को दबाने वाला सबसे बड़ा राष्ट्र विरोधी है.

LEAVE A REPLY