maocist-15-02-2016-1455516816_storyimage

माओवादियों ने अपने कमांडर के मारे जाने के विरोध में 15 और 16 को पूर्वी बिहार और झारखंड में बंद की घोषणा की है। बीती रात इस घोषणा के बाद उग्रवादियों ने जमुई जिले के बरहट प्रखंड कार्यालय को विस्फोट कर क्षतिग्रस्त कर दिया। जबकि बिहार में उग्रवादियों की धमकी के बाद ट्रेन परिचालन को 6 घंटे के लिए बंद कर दिया गया।

केन बम से उड़ाया प्रखंड कार्यालय
अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) दिवाकर नारायण पांडेय ने यहां बताया कि 15-20 की संख्या में भाकपा माओवादी के हथियारबंद दस्ते ने केन बमों का विस्फोट कर बरहट प्रखंड कार्यालय को क्षतिग्रस्त कर दिया। उन्होंने बताया कि विस्फोट की घटना में भवन को आंशिक क्षति हुई है।

हालांकि इस घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। उन्होंने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच कर छानबीन शुरु कर दी है। खोजी कुत्ते की मदद से उग्रवादियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

कई एक्सप्रेस और सवारी गाडि़यां फंसी
बिहार में प्रतिबंधित संगठन भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) उग्रवादियों की धमकी के मद्देनजर पूर्व रेलवे के मालदा रेल मंडल के किऊल-जमलापुर रेल खंड पर मध्य रात्रि से करीब छह घंटे तक ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा।

रेलवे पुलिस सूत्रों ने आज यहां बताया कि किऊल-जमालपुर रेल खंड के उरैन स्टेशन के केबिन मैन को कल देर रात माओवादियों ने फोन कर इस रेल खंड पर ट्रेनों का परिचालन रोकने को कहा और ऐसा नहीं करने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। केबिन मैन ने इसकी सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को दी जिसके बाद ऐहतियात के तौर पर इस रेल खंड पर रात एक बजे से सुबह सात बजे तक ट्रेनों के परिचालन को रोक दिया गया।blast1455516800_big

सूत्रों ने बताया कि परिचालन रोके जाने के कारण इस रेल खंड पर लंबी दूरी की एक्सप्रेस ट्रेनों समेत कई सवारी गाड़यिां विभिन्न स्टेशनों पर रुकी रही। इसके अलावा 53427 एवं 53428 तथा 53479  एवं 53480 दो जोड़ी किऊल-जमालपुर सवारी को रद्द कर दिया गया। इसबीच दिल्ली से गुवाहाटी जा रही ब्रह्मपुत्र मेल के मनकट्ठा स्टेशन पर सात घंटे तक रोके जाने से नाराज यात्रियों ने जमकर हंगामा किया। इस ट्रेन को करीब सात घंटे बिलंब से सुबह 07.15 बजे गंत्वय के लिए रवाना कर दिया गया।

LEAVE A REPLY