क्या आप ऐसे व्यक्तियों से मिले हैं, जो कभी भी अपने वजन की चिंता नहीं करते और न ही उसे नियंत्रित करने की कोशिश करते हैं? दरअसल, ऐसे लोग अपने भोजन की गुणवत्ता पर ध्यान देते हैं, मात्रा पर नहीं। इसलिए वे स्लिम-ट्रिम भी रहते हैं। एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है।

फिनलैंड की यूनिवर्सिटी ऑफ टेंपेयर में किए गए इस अध्ययन की मुख्य लेखक अन्ना-लीना व्यूरिनेन ने बताया, ‘‘यह निष्कर्ष काफी उत्साहजनक हैं, क्योंकि आहार पर प्रतिबंध लगाने और पसंदीदा खाने की चीजों से परहेज करने से बेहतर है कि मात्रा से ज्यादा भोजन की गुणवत्ता पर ध्यान दिया जाए।’’

अध्ययन का यह परिणाम ग्लोबल हेल्दी वेट रजिस्ट्री के सर्वेक्षण पर आधारित हैं। इस सर्वेक्षण में शामिल प्रतिभागियों से एक शब्दावली के माध्यम से आहार, व्यायाम और नियमित दिनचर्या संबंधित सवाल पूछे गए थे।

अध्ययन से सामने आया कि घर में बना हुआ उच्च गुणवत्ता वाला भोजन और अपने मन की आवाज सुनने वाले प्रतिभागी ज्यादा चुस्त-दुरुस्त और छरहरी काया वाले रहे।

यह शोध अमेरिका में ‘द ओबेसिटी सोसायटी इन लॉस एंजेलिस’ की सालाना बैठक में प्रस्तुत किया गया था।

LEAVE A REPLY