बॉलीवुड एक्ट्रेस शबाना आजमी का कहना है कि वह अपनी आने वाली फिल्म ‘नीरजा’ के पाकिस्तान में प्रतिबंध की खबरों के बीच इसे वहां प्रदर्शित होने को लेकर आश्वस्त हैं।

सोनम कपूर के अभिनय वाली इस फिल्म की कहानी कराची हवाई अड्डे पर 1986 में पैन एम फ्लाइट 73 को अगवा कर लिये जाने के दौरान की है। इसमें कथित रूप से देश की खराब तस्वीर पेश की गई है जिसके बाद पाकिस्तान में इसे प्रतिबंधित कर दिया गया है।

नीरजा की मां की भूमिका करने वाली शबाना संवाददाताओं को बताया, चयन समिति अभी इस फिल्म को देख रही है। ऐसे में, हम उनकी प्रतिक्रिया का इंतजार कर रहे हैं और हम पूरी तरह से आश्वस्त हैं कि वे एक बार फिल्म देख लें तो उन्हें इसमें कोई समस्या नहीं होगी।

शबाना ने बताया, भारत सरकार ने नीरजा को अशोक चक्र से सम्मानित किया, पाकिस्तान ने मेडल दिया और अमेरिका सरकार ने उसे प्रशस्ति पत्र दिया। हमारे पास कोई वजह नहीं है कि हम एक कहानी जिसे पाकिस्तान सरकार ने सम्मानित किया और देश की खराब तस्वीर पेश करें। मैं वास्तव में आश्वस्त हूं कि जब वह फिल्म देख लेंगे, वे महसूस करेंगे कि उनकी आशंका पूरी तरह से निराधार थी।

निर्देशक राम माधवानी ने प्रतिक्रिया के पूछे जाने पर कहा कि अभी तक कोई अधिकारिक बात नहीं कही गई है और अगले दो दिनों में उन्हें इसके बारे में पता चलेगा।

यह फिल्म पैन एम मुंबई-न्यूयार्क विमान में सवार एक परिचालिका नीरजा भनोट के ईद-गिर्द घूमती है। अगवा किए गए विमान के यात्रियों को बचाने के प्रयास के दौरान आतंकवादियों ने उसकी हत्या कर दी थी।

LEAVE A REPLY