पोप जॉन पॉल द्वितीय के एक शादीशुदा महिला से करीबी रिश्तों का खुलासा करने वाले पत्र और तस्वीरें 30 साल के बाद सार्वजनिक हुए हैं। बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार, पोलैंड में पैदा हुई अमेरिकी विचारक अन्ना-टेरेसा ताइमेनिका और पोप जान पॉल द्वितीय के बीच के ये पत्र पोलैंड की नेशनल लाइब्रेरी में लोगों की पहुंच से दूर रखे गए थे।

ये दस्तावेज पोप जॉन पाल द्वितीय की शख्सियत के एक ऐसे पहलू पर रोशनी डालते हैं, जिसके बारे में लोगों को जानकारी नहीं है। पोप जॉन पॉल द्वितीय का निधन 2005 में हुआ था। वह 26 साल पोप के पद पर रहे। 2014 में उन्हें संत घोषित किया गया था।

हालांकि किसी भी दस्तावेज, तस्वीर या पत्र से इस बात का कोई संकेत नहीं मिलता कि पोप ने ब्रह्मचर्य का अपना व्रत तोड़ा था। दोनों के बीच की दोस्ती 1973 में शुरू हुई थी। ताइमेनिका ने भावी पोप कार्डिनल कारोल वोताइला से मुलाकात की थी। वोताइला उस वक्त कारकोव के आर्कबिशप थे।

ताइमेनिका ने वोताइला की दर्शनशास्त्र पर लिखी किताब के सिलसिले में अमेरिका से पोलैंड आकर उनसे मिली थी। इसके बाद, दोनों लोगों के बीच पत्र व्यवहार का सिलसिला चल पड़ा। कार्डिनाल के पत्र औपचारिक थे। पर, दोस्ती बढ़ने के साथ इन पत्रों की अंतरंगता बढ़ती गई। दोनों ने कार्डिनल की किताब ‘द एक्टिंग पर्सन’ को और विस्तारित करने का फैसला किया था।

LEAVE A REPLY