सिखेड़ा क्षेत्र के एक गांव में एक युवक पड़ोस की पांच साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म कर फरार हो गया। रविवार सुबह परिजनों ने युवक को पकड़कर जमकर पीटा। ग्रामीणों ने दोनों पक्षों की बैठक कर मामले को 90 हजार रुपये में रफादफा करवा दिया। पुलिस ने कोई भी ऐसी घटना होने से मना किया।

सिखेड़ा क्षेत्र के एक गांव में शनिवार शाम अपने ही पड़ोस के घर में पांच व सात वर्षीय दो सगी बहनें एक बच्चे के साथ खेल रही थीं, तभी पड़ोस का एक युवक आया और दो बच्चों को पैसे देकर दुकान पर टाफी लेने के लिए भेज दिया। कुछ समय बाद जब वह दोनों बच्चे वापस आए तो पांच वर्षीय बच्ची खून में लथपथ पड़ी थी। जब उसकी बड़ी बहन ने घर जाकर मामले की जानकारी दी तो परिजनों में हड़कंप मच गया और वह मौके पर पहुंचे।

मकान मालिक ने बताया कि बच्ची गिर गई थी, जिससे उसी गम्भीर चोटें लगी है और खून निकल आया है। परिजनों ने बच्ची को एक निजी चिकित्सक को दिखाया तो उसने बच्ची के साथ दुष्कर्म होने की पुष्टि की। दुष्कर्म की बात सुनकर परिजनों में रोष फैल गया। परिजनों ने तुरंत बच्ची को मुजफ्फरनगर के एक अस्पताल में भर्ती कराया।

रविवार को घर पहुंचकर आरोपी युवक के तलाश की कुछ देर बाद युवक को उन्होंने धर दबोचा और उसकी जमकर पिटाई की। जब परिजनों ने उसके खिलाफ कार्रवाई कराने को कहा तो गांव के कुछ लोगों ने मिलकर बैठक की और मामले को वहीं निपटाने की सलाह दी।

सोमवार को बच्ची अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही थी, वहीं गांव में परिजन और आरोपी पक्षके लोग समझौते के लिए पंचायत करने में लगे थे। गांव में कई घंटे की पंचायत के बाद दोनों पक्षों में 90 हजार रुपये में समझौता हो गया। थाना प्रभारी प्रभाकर केंतुरा ने बताया कि इस तरह की सूचना मिली थी गांव में जाकर जानकारी की तो पुलिस को इस तरह की घटना की कोई जानकारी नहीं मिली।

LEAVE A REPLY