आजकल की ‘स्मार्ट’ दुनिया में कम्यूनिकेशन करना या कोई इनफॉर्मेशन हासिल करना काफी आसान हो गया है। इसका फायदा उठाते हुए गवर्नमेंट भी आमजन से कम्यूनिकेट करने में और आम लोगों के फायदे की सर्विसेज को ‘स्मार्टली’ उन तक पहुंचाने में मोबाइल एप्लीकेशंस की हेल्प ले रही है। आइए जानते हैं कुछ ऐसी ही इंटरेस्टिंग ऐप्स के बारे में।

माय गवर्नमेंट

यह ऐप गवर्नमेंट के प्रयासों को सीधे पब्लिक तक ले जाने का काम करती है। आप इस ऐप के जरिए सेंट्रेल मिनिस्ट्रीज और इससे जुड़ी ऑर्गनाइजेशंस की किसी सर्विस पर अपनी राय दे सकते हैं। आप यहां अपनी शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं। इस ऐप के जरिए कोई भी आम इंसान अपने सजेशंस के जरिए एक आम आदमी की पावर का एहसास करा सकता है। अगर गवर्नमेंट को अापका सुझाव अच्छा लगता है तो उसे पसंद किया जाता है, साथ ही साथ उस पर एक्शन भी लिया जाता है। पब्लिक को अक्सर शिकायत रहती है कि गवर्नमेंट तक उनकी बात नहीं पहुंचती पर इस ऐप के जरिए उस दूरी को कुछ कम तो जरूर किया जा सकता है।

मी इंडिया

‘मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स-गवर्नमेंट ऑफ इंडिया’ की यह ऐप पूरी तरह से यूजर-ओरियंटेड है। इसको काफी बढ़िया बनाया गया है। इसमें उपयोग किए गए विजुअल्स और ग्राफिक्स इसे रोचक बनाते हैं। आप इस ऐप के जरिए आम नागरिक से जुड़ी सर्विसेज के बारे में जानकारी आसानी से हासिल कर सकते हैं और उनका फायदा उठा सकते हैं। अक्सर देखा जाता है कि लोगों तक गवर्नमेंट की सर्विसेज की जानकारी नहीं पहुंचती है और इसमें आम आदमी के साथ-साथ गवर्नमेंट का भी नुकसान होता है।

इनक्रिडिबल इंडिया

‘मिनिस्ट्री ऑफ टूरिज्म’ की यह ऐप सबसे इंटरेस्टिंग गवर्नमेंंट एेप्स में से एक है। यह ऐप न सिर्फ इंडियन्स बल्कि फॉरेनर्स के लिए भी काफी उपयोगी साबित हो सकती है। यह ऐप आपकी लोकेशन जानकर आपको इंडिया के किसी भी कोने के टूरिस्ट स्पॉट्स की जानकारी देती है। इतना ही नहीं, आपको यहां पर गवर्नमेंट से एफिलिएटेड टूर ऑपरेटर्स, एडवेंचर टूर ऑपरेटर्स, टूरिस्ट गाइड्स और यहां तक की करीबी होटल्स की भी जानकारी मिल जाती है। अगर आप किसी शहर में हैं, आपको पता नहीं चल रहा है कि आप कहां घूमने जाएं या कहां रुकें तो यह ऐप आपकी काफी हेल्प करेगी।

आरटीआई इंडिया

‘आरटीआई’ की ताकत तो हमें मिल गई है पर अभी भी हम इसका उस लेवल पर यूज नहीं कर पाए हैं, जिसकी उम्मीद की जा रही थी। पर आज जब हमारे हाथों में स्मार्ट डिवाइसेस मौजूद हैं तो इस ऐप के जरिए हम अपने इस अधिकार का पूरा फायदा उठा सकते हैं। ज्यादातर लोग ‘आरटीआई’ इसलिए फाइल नहीं कर पाते क्योंकि उन्हें एप्लीकेशन प्रोसेस और इससे जुड़ी डीटेल्स पता नहीं होती। यहां यह ऐप काम आती है। आप यहां पर अपनी कम्यूनिटी भी बना सकते हैं जिसके जरिए आप जानकारियां औरों से शेयर कर सकते हैं। इस एप का सबसे इंटरेस्टिंग फीचर यह है कि आप इसके जरिए जाने-माने ‘आरटीआई’ एक्टिविस्ट्स को पर्सनल मैसेज भी भेज सकते हैं।

खोया पाया

ये भी एक बहुत उपयोगी ऐप है जो खोए हुए या कहीं बेसहारा मिले बच्चों को उनके परिवार से मिलाने में मदद करती है। आप इस ऐप पर ऐसे बच्चों के बारे में जानकारी शेयर कर सकते हैं और इसके लिए आपको किसी लीगल प्रोसेस से भी नहीं गुजरना पड़ता। आपकी दी गई इनफॉर्मेशन इस प्लैटफॉर्म पर पब्लिश कर दी जाएगी। इतना ही नहीं, लोग इस ऐप के डेटाबेस में मौजूद बच्चों से खोए हुए बच्चों की डीटेल्स और हुलिया मिलाकर उन्हें खोज भी सकते हैं।

एम-कवच

यह ऐप आपको मैलवेयर से बचाती है और आपकी पसर्नल इनफॉर्मेशन का गलत इस्तेमाल किए जाने से रोकती है। इस ऐप में आपको सिक्योर स्टोरेज, एप्लीकेशन मैनेजर, एंटी-थेफ्ट, कॉल/एसएमएस फिल्टर और वाई-फाई, ब्लूटूथ, कैमरे का ऑथराइज्ड एक्सेस मिलता है। आप इस एप के जरिए अपने कॉन्टैक्ट और कॉल डीटेल्स का लोकल बैकअप भी बना सकते हैं।

 

LEAVE A REPLY