6193936d-e8cf-40e8-a354-882eb99c81bdजिसे बकरी की दुध पिलाकर नवजात शावक का पालन किया जा रहा है। जब इसे कानन लाया गया था उस समय शावक मात्र तीन चार दिनों का ही था एवं दुग्धपान नहीं हो पाने के कारण ठीक से खड़ा नहीं हो पा रहा था जिसे डाक्टर पी.के. चन्दन के नेतृत्व में सही देखरेख करने के परिणामस्वरूप अब स्वस्थ नजर आ रहा है।
साबर शावक का प्रतिदिन चिकित्सकीय जांच एवं समय पर बकरी से सीधा दुग्धपान कराते हुए बकरी का भी खानपान पर विशेष ध्यान रखा जा रहा है।
अभी कानन में कुल सात नग साम्बर हिरण है जिसमें तीन मादा व चार नर हैं इसके आने से इनकी कुल संख्या आठ 4 नर व 4 मादा हो गए है।b3d0d50b-2b67-4ea7-8161-fe10aec0c313

LEAVE A REPLY