प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी मंत्रिपरिषद के सदस्यों को नसीहत देते हुए कहा है कि वे शिकायतें करने वाली विपक्ष की मानसिकता से उबरें और जनता के बीच अपने काम की जानकारी दें। बुधवार शाम को केंद्रीय मंत्रिपरिषद की बैठक में पीएम ने छह मंत्रालयों के कामकाज की समीक्षा के दौरान यह बात कही।

समीक्षा करने के साथ उन्होंने कुछ राज्य मंत्रियों के कामकाज पर सवाल भी खड़े किए। उन्होंने कुछ मंत्रियों को अपने काम में सुधार लाने के निर्देश भी दिए। बुधवार को दिन भर चली बैठकों के दौर में प्रधानमंत्री ने शाम को केंद्रीय मंत्रिपरिषद की मासिक बैठक की। बैठक में ग्रामीण विकास, शहरी विकास, मानव संसाधन विकास, स्वास्थ्य, वित्त और सामाजिक न्याय मंत्रालयों के कामकाज की समीक्षा की गई। बजट सत्र के पहले हुई इस बैठक में प्रधानमंत्री ने पिछले वित्त वर्ष में इन मंत्रालयों के बजट आवंटन के खर्च की जानकारी भी ली।

सूत्रों के अनुसार, पीएम ने सरकार की उपलब्धियों और कामकाज के जनता के बीच ठीक ढंग से प्रचार-प्रसार न होने पर चिंता जताई। पीएम ने राज्य मंत्रियों द्वारा अपने वरिष्ठ मंत्रियों की शिकायत करने पर कहा कि वे अपने कामकाज को सुधारें और विपक्ष की मानसिकता से उबरें।

सूत्रों के अनुसार, एक राज्यमंत्री के कामकाज पर उन्होंने तीखी टिप्पणी भी की। मोदी ने कहा कि जब उन्हें अपने मंत्रालय के काम की ही पूरी जानकारी ही नहीं है तो वह जनता के बीच सरकार की उपलब्धियों को कैसे ले जाएंगे।

LEAVE A REPLY