अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी की ओर से उम्मीदवारी की दौड़ में आगे चल रहे डोनाल्ड ट्रंप ने पोप फ्रांसिस द्वारा अपनी आलोचना को शर्मनाक बताया था लेकिन इसके कुछ घंटे बाद ही स्थिति को संभालने की कोशिश के तहत उन्होंने कहा कि उन्हें पोप के साथ विवाद पसंद नहीं है।

पोप ने रियल एस्टेट टायकून की आलोचना करते हुए कहा था कि ट्रंप ईसाई होने का दावा नहीं कर सकते। उन्होंने ट्रंप के उस बयान की भी आलोचना की जिसमें उन्होंने अमेरिका-मेक्सिको सीमा पर एक दीवार बनाने की बात कही थी। ट्रंप ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए पोप के बयान को शर्मनाक बताया लेकिन बाद में उन्होंने उनको लेकर अपने रख में नरमी दिखायी।

रिपब्लिकन नेता ने कहा, वास्तव में मुझे पोप से टकराव पसंद नहीं है। मुझे नहीं लगता कि यह किसी तरह की लड़ाई है। मेरे ख्याल से उन्होंने जो कहा वो मीडिया की रिपोर्ट की तुलना में ज्यादा नरम था। मेरे ख्याल से उन्होंने कहानी का एक पक्ष ही सुना जो शायद मेक्सिको की सरकार की तरफ से था।

दक्षिण कैरोलिना में सीएनएन की ओर आयोजित एक कार्यक्रम में ट्रंप ने कहा पोप के लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है। मेरे ख्याल से उनके व्यक्तित्व में बहुत कुछ है। वह बहुत अलग इंसान हैं और वह बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। उनके पास बहुत अधिक उर्जा है।

पोप फ्रांसिस ने पत्रकारों से कहा था, एक व्यक्ति जो दीवार बनाने की बात करता है, चाहे जहां भी हो और सेतु बनाने की नहीं, वह ईसाई नहीं हो सकता।

LEAVE A REPLY